गोली मारकर दोस्त को ले गए अस्पताल, हादसा बताकर कराया भर्ती

suresh mishra

Publish: Apr, 21 2017 01:27:00 (IST)

Rewa, Madhya Pradesh, India
गोली मारकर दोस्त को ले गए अस्पताल, हादसा बताकर कराया भर्ती

गोली लगने से घायल युवक की मौत के बाद गुरुवार को पुलिस ने उसके दो दोस्तों से पूछताछ की तो उन्होंने हत्याकांड का रहस्य उगल दिया।


रीवा।
गोली लगने से घायल युवक की मौत के बाद गुरुवार को पुलिस ने उसके दो दोस्तों से पूछताछ की तो उन्होंने हत्याकांड का रहस्य उगल दिया। हालांकि विवाद का मूलकारण अभी तक पुलिस नहीं जान पाई है। नीरज तिवारी पिता राजवेन्द्र (18) निवासी महसुआ थाना रायपुर कर्चुलियान को 17 अप्रैल की रात आरोपियों ने गोली मारकर रिलायंस पेट्रोल पंप के समीप फेंक दिया था।

घायल को परिजन पहले निजी अस्पताल फिर इलाहाबाद ले गए थे। लेकिन हालत अच्छी नहीं होने पर बुधवार को संजय गांधी अस्पताल लाया गया था। जहां मौत हो गई। इस हत्याकांड में आरोपी दिव्यांशू तिवारी का नाम सामने आया है।

नीरज के सिर पर फायर
जो वारदात के बाद से फरार हो गया है। घटना दिनांक को आरोपी ने अपने दो दोस्त सूरज उपाध्याय व विकास द्विवेदी निवासी रतहरा को संस्कृति गार्डन में आयोजित वैवाहिक आयोजन में चलने के लिए बुलाया था। दोनों दोस्त वहां पहुंचे तो आरोपी युवक के साथ खड़ा हुआ था। इसी दौरान जेब से कट्टा निकालकर नीरज के सिर पर फायर कर दिया।

दे रहे थे एक्सीडेंट की जानकारी
खून से लथपथ हालत में वही अस्पताल लेकर गए। हालांकि आरोपी, युवक का एक्सीडेंट होने की जानकारी दे रहे थे। लेकिन सिटी स्केन में उसके माथे में गोली निकलने के बाद आरोपी लापता हो गए थे। नीरज पहले आरोपी के यहां किराए से रहता था अब झिरिया में कमरा ले लिया था। युवक की हत्या  का मामला दर्ज किया है।

टीम ने एकत्र किए भौतिक साक्ष्य
गुरुवार सीन ऑफ क्राइम यूनिट की टीम ने भी घटनास्थल का निरीक्षण कर भौतिक साक्ष्य एकत्र किए। घटनास्थल से पुलिस को कई महत्वपूर्ण सुराग मिले है। हालांकि कारतूस का खोखा पुलिस को नहीं मिला है। आशंका जताई जा रही है कि फायर के बाद खोखा कट्टे में ही फंसा रहा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned