जच्चा-बच्चा की मौत से बिफरे परिजन, डॉक्टर पर किया हमला 

Hamid Khan

Publish: Jun, 21 2017 01:38:00 (IST)

Sagar, Madhya Pradesh, India
जच्चा-बच्चा की मौत से बिफरे परिजन, डॉक्टर पर किया हमला 

गुस्साए परिजनों ने जमकर हंगामा मचाया और प्रसूता वार्ड में जमकर तोडफ़ोड़ की। इतना ही नहीं, डॉक्टर और स्टाफ से धक्का-मुक्की भी की। गनीमत रही कि समय पर गोपालगंज पुलिस सूचना पाकर पहुंच गई थी। नहीं तो घटना बड़ा रूप ले सकती थी।

सागर. प्रसव के दौरान प्रसूताओं की मौत पर अंकुश लगाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा की गई अनूठी पहल 'मिशन मर्जरÓ कारगर साबित होती नहीं दिख रही है। जिला अस्पताल में मिशन मर्जर के 20वंे मंगलवार को दिन प्रसव के दौरान जच्चा-बच्चा की मौत ने इस मर्जर की पोल खोलकर रख दी है। इस घटना के बाद गुस्साए परिजनों ने जमकर हंगामा मचाया और प्रसूता वार्ड में जमकर तोडफ़ोड़ की। इतना ही नहीं, डॉक्टर और स्टाफ से धक्का-मुक्की भी की। गनीमत रही कि समय पर गोपालगंज पुलिस सूचना पाकर पहुंच गई थी। नहीं तो घटना बड़ा रूप ले सकती थी।
गेट तोड़ा और स्टाफ से की झूमाझटकी
प्रसव के दौरान बच्चे की मौत और उसके बाद प्रसूता की मौत से गुस्साए परिजन भड़क गए। परिजनों ने जमकर हंगामा किया। आक्रोशित परिवार ने ओटी का 
गेट तोड़ दिया और रोकने पहुंचे नर्सिंग स्टाफ से झूमाझटकी करते हुए हमले का प्रयास भी किया। उत्पात को रोकने व समझाइश 
देने पहुंचे नर्सिंग स्टाफ को आक्रोशित परिजनों ने खदेड़ दिया और लेडी डॉक्टर पर हमला कर दिया जिसे गार्ड व लोगों ने बीच-बचाव कर रोका। तोडफ़ोड़ की खबर लगते ही सुरक्षा गार्ड और पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन तब तक परिजन वहां से जा चुके थे। परिजनों द्वारा लापरवाही का आरोप लगाने पर पुलिस ने सुबह प्रसूता के शव का परीक्षण कराया। लेकिन अस्पताल प्रबंधन ने इस मामले में मंगलवार रात तक कोई शिकायत नहीं की।
 ये है मामला
जानकारी के अनुसार संत रविदास वार्ड निवासी राना यादव की पत्नी राधाबाई (22) को प्रसव पीड़ा होने से मंगलवार रात करीब 1 बजे जिला अस्पताल की मेटरनिटी इकाई में लाया गया था। गंभीर हालत को देखते हुए उसे तुरंत भर्ती कर लिया गया। नर्सिंग स्टाफ के बुलाने पर ड्यूटी डॉक्टर स्वाति गुप्ता ने उसकी जांच की। डॉ.शीला जैन ने सिजेरियन किया जिसमें राधाबाई ने मृत अवस्था में नवजात को जन्म दिया। लगातार रक्तस्राव होने से राधाबाई की हालत बिगड़ती गई और उसने तड़के करीब 4.30 बजे दम तोड़ दिया। नवजात के राधाबाई के पेट में ही दम तोडऩे की खबर से नाराज परिजनों को जैसे ही राधाबाई की मौत का पता चला वे भड़क गए। मेटरनिटी इकाई में आेटी के गेट को गुस्साए परिजनों ने क्षतिग्रस्त कर दिया। मेटरनिटी इकाई में अफरा-तफरी की सूचना पर गोपालगंज टीआई प्रशांत मिश्रा व पुलिस बल भी मौके पर पहुंचा था।
&प्रसूता की मौत के बाद हंगामे की सूचना तो है लेकिन अब तक अस्पताल प्रबंधन की ओर से कोई शिकायत नहीं मिली है। परिजनों के आरोपों को देखते हुए शव का पोस्टमार्टम कराते हुए मामला जांच में लिया है। 
प्रशांत मिश्रा, टीआई 
गोपालगंज, सागर

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned