नगरपालिका की बेरुखी से जनता त्रस्त 

Gulshan Patel

Publish: Jul, 17 2017 08:40:00 (IST)

Sagar, Madhya Pradesh, India
नगरपालिका की बेरुखी से जनता त्रस्त 

शहर में नगरपालिका के उदासीन रवैये के कारण पूरा शहर परेशान है। बैठकों में बड़े-बड़े प्लान तैयार तो किए जाते हैं, लेकिन उन्हें धरातल पर नहीं उतारा जाता है। जिसका खामियाजा शहर के लोगों को भुगतना पड़ रहा है। 

बीना.तीन दिन पहले हुई बारिश के बाद शहर में जगह-जगह पानी जमा हो गया है। जिसकी निकासी न होने के कारण उसमें मच्छर पनपने लगे हैं। यदि यही हाल रहा तो कुछ दिनों बाद हालात गंभीर हो सकते हैं। नगरपालिका का इस समय पहला काम यह वार्डों में पनप रहे मच्छरों के लिए दवाई का छिड़काव करना है, लेकिन ऐसा नहीं किया जा रहा है। सुबह और शाम के समय तो मच्छरों के कारण लोगों का घरों में बैठना मुश्किल हो जाता है। 

प्लाटों में हैं जमा पानी

नगरपालिका द्वारा शहर में खाली पड़े प्लाट मालिकों पर कार्रवाई करनी चाहिए थी और नोटिस भी जारी करने थे। लेकिन अपनी कछुआ चाल से चलने वाले नपा के अधिकारी कुछ भी करने से कतराते रहते है। जिसके वहां रहने वाले अन्य लोगों को परेशानी झेलनी पड़ती है। यदि प्लाटों में ही पानी का भराव न हो तो यह स्थिति ही निर्मित नहीं होती कि लोगों को परेशान होना पड़े। 

यहां अधूरा पड़ा काम 

शहर के चंद्रशेखर वार्ड में एक निजी प्लाट में पानी भरने के कारण नगरपालिका का पूरा अमला एक प्लाट का पानी निकालने के लिए लगा रहा और नाली खोदकर पानी निकाला गया। इतना ही नहीं यहां पर नाली खोदने के बाद उसमें तीन दिन पहले पाइप डालने के लिए लाए गए, लेकिन उन्हें डाला नहीं गया। सड़क पर ही पूरा मलवा फैला पड़ा है जिस बजह से लोगों की पूरी तरह से आवाजाही बंद हो गई है। वहीं दूसरी तरफ शहर के अन्य वार्डों में घरों में पानी भरा रहा लेकिन नपा को वहां की सुध नहीं हुई। 

जमा पानी में डाल रहा दवाएं

जहां-जहां पानी जमा है वहां दवाओं का छिड़काव कराया जा रहा है। शहर में सभी जगह दवाएं डाली जा रही हैं। 

नजीव काजी, सफाई प्रभारी, नगरपालिका 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned