यहां के Jungle पर कब्जा करने ग्रामीणों में विवाद, सुलझाने पहुंचे 'नेता प्रतिपक्ष'

Pranayraj rana

Publish: Nov, 30 2016 01:13:00 (IST)

Ambikapur, Chhattisgarh, India
यहां के Jungle पर कब्जा करने ग्रामीणों में विवाद, सुलझाने पहुंचे 'नेता प्रतिपक्ष'

अंबिकापुर से लगे ग्राम खैरबार, रामनगर व मलगवां के जंगल में पहुंचे नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव, ग्रामीणों को कब्जा न करने की दी समझाइश

अंबिकापुर. नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव व लुण्ड्रा विधायक चिंतामणी महाराज मंगलवार की सुबह बजे खैरबार, रामनगर, मलगवां से लगे जंगल पहुंचे। जहां पर जंगल में कब्जा करने को लेकर ग्रामीणों के बीच चल रही विवाद जैसी स्थिति को सुलझाने का प्रयास किया तथा जंगल बचाने का आह्वान किया।
 
सरगुजा जिले के अंबिकापुर से लगे ग्राम खैरबार, रामनगर मलगवां में निवासरत काफी संख्या में लोगों का कहना था कि 2014 में कैंपा योजना के तहत् उक्त जंगल में फेंसिंग कार्य हुआ है तथा जो लोग 2005 के पूर्व के काबिज हैं वे तो हैं कि किन्तु काफी संख्या में जंगल पट्टा बनाने के नाम पर लोगों के द्वारा कब्जा किया जा रहा है, जिसमें खैरबार एवं रामनगर मलगवां के लोग हैं।

दोनों ही ग्रामों के प्रमुख लोगों का मानना था कि चूंकि जंगल को जंगल ही रहने दिया जाये और उसमें कब्जा न किया जाये, जिससे की सबके निस्तार हेतु सामूहिक रूप से इसका उपयोग किया जा सके। कब्जाधारियों को समझाने के उद्देश्य से ग्राम के प्रमुख लोगों के बुलाने पर नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव एवं लुण्ड्रा विधायक चिंतामणी महाराज सुबह 7.30 बजे पहुंचे।

जहां पर दोनों ग्रामवासियों, वन विभाग के एसडीओ, दरोगा सहित बीट गार्ड, ग्रामों सरपंच एवं प्रमुख लोगों की उपस्थिति में यह निर्णय लिया गया कि 2005 के पूर्व के काबिज लोगों को उनके द्वारा दिखाये गये दस्तावेज के आधार पर वन अधिकार पट्टा मुहैया कराया जाए और जो लोग इसके बाद के काबिज हैं वे उन जमीनों को छोड़ कर जंगल एवं पर्यावरण को बढ़ावा दें।

इसके लिये कल से वन विभाग द्वारा जांच की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इस दौरान जिला पंचायत सदस्य राकेश गुप्ता, मो. इस्लाम सहित दोनों ही ग्रामों के ग्रामीणजन एवं पंचायत के जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।
 
जंगल रहेगा तो हमारे ही काम आएगा
नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव ने कहा कि यह आपसी सामंजस्य एवं सोच वाली बात है, यदि जंगल रहेगा तो कल के समय हमें ही काम आयेगा, इसका उपयोग कोई दूसरा नहीं करेगा। इसका ख्याल करते हुए हमें जंगल की रक्षा हेतु आगे आना चाहिए, जंगल के पेड़-पौधों को काट कर जमीन कब्जा करने जैसी प्रवृत्ति से दूर रहना चाहिए। लुण्ड्रा विधायक चिंतामणी महाराज ने भी लोगों को समझाइश दी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned