अशिक्षा के कारण बढ़ा घरेलू हिंसा का ग्राफ

Prashant Sahare

Publish: Dec, 01 2016 11:09:00 (IST)

Seoni, Madhya Pradesh, India
अशिक्षा के कारण बढ़ा घरेलू हिंसा का ग्राफ

सिवनी. हमारा समाज महिलाओं की बराबरी से भागीदारी की बात तो करता है। जबकि वास्तविकता यह है कि प्रकृति ने महिलाओं को पहले से बराबर माना है। ये तो पितृसत्तातमक समाज व व्यवस्था से संघर्ष करते हुए महिलाओं के लिए समता पूर्वक समाज की स्थापना के लिए प्रयास करें। उक्त उदगार महिला शोषण मुक्ति यात्रा का प्रतिनिधित्व कर रही भोपाल की प्रीति साधू ने व्यक्त किए हैं।

सिवनी. हमारा समाज महिलाओं की बराबरी से भागीदारी की बात तो करता है। जबकि वास्तविकता यह है कि प्रकृति ने महिलाओं को पहले से बराबर माना है। ये तो पितृसत्तातमक समाज व व्यवस्था से संघर्ष करते हुए महिलाओं के लिए समता पूर्वक समाज की स्थापना के लिए प्रयास करें। उक्त उदगार महिला शोषण मुक्ति यात्रा का प्रतिनिधित्व कर रही भोपाल की प्रीति साधू ने व्यक्त किए हैं।
इस अवसर पर यात्रा की प्रभारी शशि पटेल ने कहा कि आज के दौर में सार्वजनिक स्थानों पर अश्लील हरकत करना महिलाओं को टारगेट करते हुए भद्द एवं अश्लील गीत गाना एवं टिप्पणी करना जैसे तमाम अपराधों की संख्या बढ़ रही है। वहीं दूसरी ओर नशा करने के कारण एवं अशिक्षा के कारण घरेलू हिंसा का ग्राफ बढ़ा हुआ है। जिसे रोकने के लिए यह यात्रा निकाली गई है।
इस यात्रा को महिला विकास परिषद सिवनी की सचिव शशिकला कटरे के मार्गदर्शन में विभिन्न क्षेत्रों में निकाला जा रहा है। साथ ही मिशन स्कूल में भी छात्राओं से चर्चा की गई।
साथ ही भोपाल स्नेहा सिंह बघेल ने भी महिला अत्याचार को लेकर अपनी बात रखी। कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष मीना बिसेन ने महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए मप्र सरकार की योजनाओं के संबंध में अपनी बात रखी। इस अवसर पर राष्ट्रपति पुरस्कार शिक्षक छिद्दीलाल श्रीवास, शैलकुमारी रंगारे, दयावती नादेकर, लेखा राहंगडाले, पुष्पा मेहंदिरत्ता सहित अनेक लोग उपस्थित थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned