रामनाथ कोविंद के मुकाबले एक और दलित ने ठोंकी ताल, हर हाल में लड़ेंगे राष्ट्रपति चुनाव

Shahjahanpur, Uttar Pradesh, India
रामनाथ कोविंद के मुकाबले एक और दलित ने ठोंकी ताल, हर हाल में लड़ेंगे राष्ट्रपति चुनाव

भाजपा नेता जिस वक्त अपने उम्मीदवार की खोजबीन में जुटे थे, उससे पहले इस शख्स ने राष्ट्रपति चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया था।

शाहजहांपुर। भाजपा ने एनडीए की ओर से दलित समुदाय से ताल्लुक रखने वाले बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाया है। इनके मुकाबले एक और दलित ने ताल ठोंकी है। यूपी के शाहजहांपुर जिले के रहने वाले किशन वैद्यराज ने एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार को अपना प्रतिद्वंदी मानकर पर्चे खरीदें हैं।

दलित समुदाय से आते हैं किशन वैद्यराज
भाजपा नेता जिस वक्त अपने उम्मीदवार की खोजबीन में जुटे थे, उससे पहले यूपी के शाहजहांपुर जिले के रहने वाले किशन वैद्यराज ने राष्ट्रपति चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी थी। वैद्यराज भी दलित समुदाय से हैं। वो किसी भी कीमत पर चुनाव से पीछे हटने को तैयार नहीं है। वैद्यराज ने राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव आयोग द्वारा तय तारीख के बाद ही दिल्ली में डेरा डाल दिया था।

Kishan Viadhyaraj
किशन वैद्यराज
पर्चा खरीदा, जल्द ही दाखिल करेंगे नामांकन
किशन वैद्यराज ने भाजपा समर्थित उम्मीदवार को अपना प्रतिद्वंदी मानकर पर्चे खरीदे हैं। जिसे वो अगले दो दिन में चुनाव कार्यालय में दाखिल करेंगे। वैद्यराज की माने तो राष्ट्रपति कार्यालय से उन्हें दोबारा बुधवार को दिल्ली चुनाव कार्यालय में पहुंचकर चुनाव संबंधी दस्तावेज लेने और देने को बुलाया गया है।

कई चुनाव लड़ चुके हैं किशन वैद्यराज
बता दें कि दलित किशन वैद्यराज अपने हर एक चुनाव में सुर्खियों में रहते हैं। हाल ही में संपन्न हुए यूपी विधानसभा चुनाव में किशन वैद्यराज अनोखे अंदाज में अर्थी पर लेटकर नामांकन कराने कलेक्ट्रेट गए थे। उन्होंने नगर विधानसभा सीट से अपना 13 वां चुनाव वर्तमान कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना के खिलाफ चुनाव लड़ा था। अब तक वो कई चुनाव लड़ चुके हैं। हालांकि अभी तक उन्हें जीत का स्वाद नहीं मिला है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned