दो पक्षों में चली गोलीं, जनपद अध्यक्ष के भाई सहित चार घायल

Shivpuri, Madhya Pradesh, India
दो पक्षों में चली गोलीं, जनपद अध्यक्ष के भाई सहित चार घायल

पहले दोनों पक्षों मेंचली लाठियां, फिर हुई गोलीबारी

शिवपुरी। शिवपुरी-पोहरी रोड पर स्थित ग्राम सिंहनिवास में रविवार की रात दो पक्षों के बीच फायरिंग हो गई। जिसमें जनपद अध्यक्ष शिवपुरी पारम रावत के भाई सहित चार लोग गंभीर घायल हो गए। जिसमें दो को ग्वालियर रैफर कर दिया। स्थिति यह रही कि रात के अंधेरे में खेत में पड़े एक गंभीर घायल को ढूंढकर लाया गया। विवाद के पीछे सरपंची व जनपद की खींचतान बताई जा रही है। जनपद अध्यक्ष के भाई को गंभीर हालत में सबसे पहले ग्वालियर रैफर किया गया, क्योंकि उसके शरीर के ऊपरी हिस्से में छर्रे धंसे हुए हैं। सूचना मिलते ही अस्पताल में पुलिस सहित लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। घायलों में जनपद अध्यक्ष पारम रावत का भाई व भतीजा भी शामिल हैं। घटना के पीछे जनपद व सरपंची के बीच विवाद बड़ा कारण माना जा रहा है।  
शिवपुरी बस स्टैंड का ठेका लेने वाले जनपद अध्यक्ष पारम रावत के भाई जयसिंह रावत एवं भतीजे अरविंद रावत का प्रकट रावत व उसके साथियों से आज शाम झगड़ा हो गया। जिसमें दोनों पक्षों के बीच पहले मारपीट हुई। फिर ये दोनों पक्ष देर शाम जब अपने गांव सिंहनिवास पहुंचे तो वहां भी न केवल इनके बीच झगड़ा हुआ, बल्कि दोनों ओर से फायरिंग की गई। बारह बोर की बंदूकों से किए गए फायर में जयसिंह के 5-6  छर्रे लग गए और उसे ग्वालियर रैफर किया गया। जबकि अरविंद, प्रकट सिंह व मस्तराम को भी छर्रे लगे हैं और उनका उपचार शिवपुरी अस्पताल में किया जा रहा है। रात लगभग 9 बजे मस्तराम रावत को गंभीर हालत में अस्पताल लाया गया। जिसके पैर में गहरा जख्म हो गया है। दोनों पक्षों के लोग जब अस्पताल में इकट्ठा हुए तो वहां भी अफरा-तफरी का माहौल निर्मित हो गया। हालांकि एसडीओपी जीडी शर्मा व टीआई कोतवाली संजय मिश्रा मय दलबल के अस्पताल पहुंच गए। समाचार लिखे जाने तक घायलों का उपचार चल रहा है तथा दोनों पक्षों में तनाव की स्थिति बनी हुई है। विवाद की वजह कोईपुरानी रंजिश बताईजा रही है। बताया जा रहा हैकि दोनो पक्षो के बीच हुई इस मारपीटकी घटना पहले बस स्टैण्ड पर हुईऔर बाद में सिंहनिवास पहुंच गई। दोनो तरफ से जमकर फायरिंग हुईतथा गाड़ी में भी तोडफ़ोड हुईहै।घटना के पीछे दोनो पक्षो में सरपंच का चुनाव का विवाद होना बताया जा रहा है।



Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned