यूपी के सोनभद्र में फर्जी शिक्षकों की भर्ती 

Sonbhadra, Uttar Pradesh, India
यूपी के सोनभद्र में फर्जी शिक्षकों की भर्ती 

आदिवासी बाहुल्य जनपद सोनभद्र में शिक्षा विभाग में फर्जी ढंग से शिक्षकों की नियुक्ति करने का मामला सामने आया...

सोनभद्र. आदिवासी बाहुल्य जनपद सोनभद्र में भ्रष्टाचार किस कदर तंत्र को खोखला कर चुका है इसका अंदाजा एक बार फिर देखने को मिला जब शिक्षा विभाग में फर्जी ढंग से 9 शिक्षकों की नियुक्ति करने का मामला सामने आया।

इस पूरे मामले का खुलासा तब हुआ जब बीते माह सूबे में 16 हजार शिक्षकों की भर्ती में जिले के योग्य अभ्यर्थियों की जगह अयोग्य लोगों की भर्ती अपने स्थानांतरण के बावजूद जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी ने करने का खेल कर दिया।

योग्यता के बावजूद नौकरी न मिल आने से मायूस अभ्यर्थियों ने हिम्मत नहीं हारी और इस अन्याय के खिलाफ जंग जारी रखी और सम्बंधित अधिकारियों से इसकी शिकायत की लेकिन शिक्षा विभाग के अधिकारियों की इस प्रकरण में पूरी संलिप्तता के कारण इस फर्जी नियुक्ति में कोई कार्यवाही सम्भव नहीं हो रही थी।

बीते दिन जिले में फर्जी नियुक्ति करने वाले उक्त तदकालीन बीएसए के खिलाफ न्यायालय द्वारा एफआईआर करने के निर्देश के बाद मायूस अभ्यर्थियों में एक नई आशा जागी और एक बार फिर से अपनी शिकायत को लेकर जिलाधिकारी के पास फरियाद की जिस पर डीएम ने मामले की जांच अपरजिलाधिकारी को सौंपी।  

चूंकि अपरजिलाधिकारी अभी कुछ समय पूर्व ही शिक्षा विभाग में तबादले को लेकर की गयी जांच में भारी अनियमितता का खुलासा कर चुके थे और उन्ही दिनों उक्त बीएसए का तबादला गैर जनपद हुआ था बावजूद तबादले के इन नियुक्तियों को करने का गड़बड़झाला किया गया था। 

जिले में हुई नियुक्तियों के लिए ऑनलाइन आवेदन में योग्य को दरकिनार कर अयोग्य को नियुक्त कर दिये जाने के बाद निराश अभ्यर्थियों ने नियुक्त किये गए फर्जी शिक्षकों के नाम और तैनाती स्थल के साथ शिकायत की लेकिन इस फर्जी नियुक्ति में शामिल बीएसए ने मामले को दबाने का ओर प्रयास किया लेकिन आखिरकार सच्चाई सामने आ ही गयी।

जब जांच मिलने के बाद अपरजिलाधिकारी ने नियुक्त अभ्यर्थियों की पत्रावली तलब की तो विभाग ने इसमें हिला हवाली करनी शुरू कर दी जिस पर संदेह जताते हुए अपरजिलाधिकारी ने बीएसए को तत्काल पत्रावली उपलब्ध कराने का निर्देश देते हुए कहा है कि नियुक्ति फर्जी होने की पूरी संभावना है जिस पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी ।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned