गोल्ड मेडलिस्ट प्रतिभा ने कहा- संस्कृत में रूझान बढ़ाने का करूंगी प्रयास

Editorial Khandwa

Publish: Dec, 01 2016 10:27:00 (IST)

Khandwa, Madhya Pradesh, India
 गोल्ड मेडलिस्ट प्रतिभा ने कहा- संस्कृत में रूझान बढ़ाने का करूंगी प्रयास

देवी अहिल्या विवि के दीक्षांत समारोह-2016 में शहर की प्रतिभा हुई सम्मानित, 2013 में बीए फाइनल इयर में यूनिवर्सिटी में संस्कृत की टॉपर को राज्यपाल ने मेडल दिया

खंडवा. संस्कृत विषय में मैंने यूनिवर्सिटी टॉपर रहने की जो उपलब्धि 2013 में हासिल की थी, उसका सम्मान गोल्ड मेडल के रूप में गुरुवार को मुझे देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह-2016 में मिला। मप्र के राज्यपाल के हाथों सम्मान पाना गौरव के क्षण थे। अब मैं पूरा प्रयास करूंगी कि संस्कृत में लोगों का रूझान बढ़े। शहर की बेटी प्रतिभा दुबे (मिश्रा) ने ये बात पत्रिका से खास चर्चा में कही। दीक्षांत समारोह में प्रतिभा को दो विशिष्ठ श्री जोशी स्वर्ण पदक व श्रीमति गंधाबाई चापेकर स्वर्ण पदक एवं प्रशस्ति पत्र से मप्र के राज्यपाल ओपी कोहली द्वारा सम्मानित किया गया। डीएविवि के कुलपति डॉ. नरेंद्र धाकड़ तथा मथुरा के कुलपति डीएस चौहान भी थे।
यूनिवर्सिटी में सबसे ज्यादा अंक
प्रतिभा ने 2013 में बीए फाइनल इयर परीक्षा संस्कृत साहित्य में सबसे अधिक अंकों के साथ उत्तीर्ण कर यूनिवर्सिटी में टॉप पर रही थीं। गोल्ड मेडल मिलने के बाद कहा- इसके लिए लंबा इंतजार करना पड़ा। मैं शिक्षा के क्षेत्र में रूचि रखती हंू। संस्कृत को आगे बढ़ाऊंगी। प्रतिभा के पिता राघवेंद्र दुबे स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत हैं। जबकि पति नीतेश मिश्रा शहर के ही दादाजी इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रोफेसर हैं।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned