Coal Dust और धूल के बीच यहां के नौनिहालों की होती है पढ़ाई, बच्चे हो रहे बीमार

Pranayraj rana

Publish: Nov, 30 2016 02:03:00 (IST)

Surajpur, Chhattisgarh, India
Coal Dust और धूल के बीच यहां के नौनिहालों की होती है पढ़ाई, बच्चे हो रहे बीमार

मुख्य सड़क से लगे प्राइमरी स्कूल में नहीं है बाउंड्रीवाल, कभी हो सकता है बड़ा हादसा, हादसे की आशंका से भयभीत रहते हैं अभिभावक

सूरजपुर. तारा-प्रेमनगर मार्ग पर ग्राम चन्दननगर में सड़क किनारे स्थित प्राथमिक पाठशाला में बच्चों की सुरक्षा और स्वास्थ्य को लेकर अभिभावक चिन्तित हैं। कोयला परिवहन कार्य में लगी भारी वाहनों की आवाजाही और इस दौरान उड़ते कोल डस्ट के गुबार बच्चों के स्वास्थ्य लिए खतरनाक साबित हो रहे हैैैं। स्कूल में बाउंड्रीवाल न होने के कारण गंभीर हादसे की आशंका हर समय बनी रहती है।

गौरतलब है कि चन्दननगर के सड़कपारा स्थित शासकीय प्राथमिक पाठशाला मुख्य सड़क के महज 10 मीटर की दूरी पर है। कोयला से भरी ट्रेलर व अन्य भारी वाहनों की आवाजाही के दौरान कोयले का डस्ट और धूल के गुबार स्कूली बच्चों के स्वास्थ्य पर नित्य प्रतिकूल असर डाल रहा है।

स्कूल के 30 बच्चों में से 10 से भी अधिक बच्चों को सांस संबंधी बीमारी की शिकायत है। सड़क से उड़ते कोयला व धूल खिड़कियां बंद करने के बाद भी कक्षाओं में पहुंच जाते हंै।
 
शिक्षक बच्चों को पार कराते हैं सड़क
विद्यालय के संकुल प्रभारी जनशिक्षक कमलेश्वर यादव ने बताया कि इस विद्यालय में दो शिक्षक हैं। जो स्कूल की छुट्टी के बाद बच्चों को सड़क पर भी कराते हैं। बाउंड्रीवाल न होने से शिक्षकों को भी दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। जब भी बच्चे पानी या किसी अन्य काम से  कक्ष से बाहर निकलते हैं तो उनकी निगरानी रखनी पड़ती है। स्वास्थ्य परीक्षण भी तीन चार माह में कराया जाता है।  
बाउण्ड्रीवाल नहीं होने से बच्चों को है खतरा
प्रेमनगर जनपद पंचायत क्षेत्र के ग्राम चन्दननगर सड़कपारा बस्ती के इस विद्यालय में बाउंड्रीवाल न होने के कारण बच्चों की जिंदगी हमेशा खतरे में रहती है। अभिभावकों ने बताया कि छोटे बच्चों को इस स्कूल में अध्ययन के लिए जरूर भेज रहे हैं, लेकिन स्कूल भेजने के बाद जब तक बच्चे सकुशल घर नहीं पहुंच जाते तब तक चिंता बनी रहती है। अभिभावकों को सबसे ज्यादा भय सड़कों पर दौड़ती बेतरतीब कोल वाहनों से हादसे के होने का लगता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned