प्रतिस्पर्धा नहीं, भाईचारा मूल मंत्र

Mukesh Sharma

Publish: May, 19 2017 12:19:00 (IST)

Surat, Gujarat, India
प्रतिस्पर्धा नहीं, भाईचारा मूल मंत्र

रिंग रोड मोटी बेगमबाड़ी में शंकर टैक्सटाइल मार्केट करीब 20-22 साल पुराना है। मार्केट में कारोबार की विविधता

सूरत।रिंग रोड मोटी बेगमबाड़ी में शंकर टैक्सटाइल मार्केट करीब 20-22 साल पुराना है। मार्केट में कारोबार की विविधता के साथ एक बड़ी खासियत यहां की एसोसिएशन है, जिसके पदाधिकारी अब तक निर्विरोध चुने जाते रहे हैं। मार्केट में आपसी भाईचारे ही वह आधार है, जिससे यहां प्रतिस्पर्धा दिखाई नहीं देती। कारोबार में एक-दूसरे का हाथ पकडऩा दूसरे व्यापारियों के लिए भी पे्ररणा बना है।

शंकर टैक्सटाइल मार्केट में दुकानों की संख्या 111 है। इसमें तीन स्तर पर यह दुकानें सजी हैं। दुकान के अंडरग्राउंड में साड़ी, ग्राउंड में रिटेल फैंसी सूट, साड़ी और फस्र्ट फ्लोर पर ड्रेस मटीरियल्स का कारोबार है। मार्केट में जॉब लोट का काम होने से यहां देशभर के व्यापारियों को सस्ती दर पर कपड़े मिलते हैं। नामी फर्म भी यहां करोबार चला रही हैं, लेकिन जॉब लोट की वजह से यह हर वर्ग के लोगों के लिए फायदेमंद है। फ्रेश कपड़ों के कारोबार में भी मार्केट आगे हैं। ग्राउंड फ्लोर पर रिटेल के व्यापारियों के कई बड़ी फर्म हैं, जहां अधिकांश कैश कारोबार होता है।

जॉब लाट का किंग

टैक्सटाइल मार्केट में ऐसे कई मार्केट हैं, जहां कपड़ों की डिजाइन का सेट आधारित काम होता है। यह सेट बिगडऩे पर इसकी पूछ कम हो जाती है। भाव भी कम हो जाता है। कपड़े की गुणवत्ता में फर्क नहीं होने के बाद भी भाव कम होना आम लोगों के लिए फायदेमंद साबित होता है। लोगों को सस्ते भाव में ऊंची गुणवत्ता का कपड़ा मिलता है। शंकर टैक्सटाइल मार्केट को इस कारोबार के कारण पहचान मिली है। जॉब लाट के कारण यहां देशभर के अलावा लोकल कारोबारी भी पहुंचते हैं। कपड़े की कम कीमत की वजह से यह आम शहरवासियों के लिए भी आवाजाही का केन्द्र बना रहता है।


स्वयंसेवी संस्थाओं से लगाव

शंकर मार्केट में अधिकांश व्यापारी राजस्थान के मूल निवासी हैं। इनका आपसी जुड़ाव विभिन्न सामाजिक गतिविधियों में दिखता है। सालभर आयोजनों के जरिए वह अपना सामाजिक दायित्व भी खूब निभाते हैं। व्यापारियों का कहना है कि वह व्यापार के साथ अपनी सामाजिक जिम्मेदारी भी निभाते हैं। मार्केट के समीप ट्रैफिक की समस्या रहती है, लेकिन आपसी तालमेल से इसे दूर कर लिया जाता है।

सामाजिक गतिविधियां

&कारोबार के साथ सामाजिक गतिविधियों में यहां के व्यापारी सक्रिय हैंं। धार्मिक कार्यक्रमों में भी व्यापारी बढ़-चढ़ कर भाग लेते हैं। विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं के जरिए सेवा कार्य किए जाते हैं।   जे.पी.शर्मा, सचिव, शंकर टैक्सटाइल मार्केट
   

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned