लगातार बढ़ रहे कर्ज से किसान आत्महत्या करने को है विवश

Widush Mishra

Publish: May, 20 2017 09:11:00 (IST)

Sagar, Madhya Pradesh, India
लगातार बढ़ रहे कर्ज से किसान आत्महत्या करने को है विवश

प्रदेश के किसानों को खेती में हर साल नुकसान हो रहा है। उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। प्रदेश सरकार की ओर से न उन्हें फसल का उचित मूल्य प्रदान किया जा रहा है और न ही खराब होने पर फसलों का मुआवजा।


टीकमगढ़। प्रदेश के किसानों को खेती में हर साल नुकसान हो रहा है। उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। प्रदेश सरकार की ओर से न उन्हें फसल का उचित मूल्य प्रदान किया जा रहा है और न ही खराब होने पर फसलों का मुआवजा। किसान का कर्ज इस कदर बढ़ गया है। कि प्रदेश में रोजाना 5 किसान आत्महत्या कर रहे है। आज प्रदेश के किसानों पर लगभग 20 हजार करोड़ का कर्ज है। किसानों को मदद की आवश्यकता है। इसी को लेकर आम आदमी पार्टी किसान बचाओ यात्रा निकाल रही है।

यह बात स्थानीय सर्किट हाउस में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान आम आदमी पार्टी के प्रदेश संयोजक आलोक अग्रवाल ने कही। प्रदेश संयोजक ने जिले के निवाडी, पृथ्वीपुर क्षेत्र के ग्रामों का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने जहां किसानों की समस्याओं को जाना, वहीं प्रदेश की निरंकुश सत्ताधारी पार्टी को आगामी चुनाव में उखाड फेंकने का आहृान किया। प्रेस वार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के द्वारा प्रदेश के सभी 51 जिलों में किसान बचाओ यात्रा प्रारंभ की गई है। जिसके चलते प्रदेश के 130 से अधिक विधान सभाओं में सभा की जा रही है।

 वहीं किसानों से सीधा संवाद किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि किसान यात्रा के दौरान प्रदेश के किसानों का कर्जा माफ  करने, फसलों का दाम बढ़ाने, स्वामीनाथन रिपोर्ट की तर्ज पर न्यूनतम मूल्य सुरक्षा कानून बनाने, किसानों की फसल खराब होने पर 20 हजार रूपए एकड़ का मुआवजा प्रदान करने, किसानों को 18 घंटे बिजली मुहैया कराने की मांग की गई। इस दौरान प्रदेश सह संयोजक महिला विंग लक्ष्मी चौहान, प्रदेश संयोजक यूथविंग निशांत  गंगवानी, सोशल मीडिया पर्यवेक्षक आशीष भदौरिया, पर्यवेक्षक दिनेश तिवारी, जिला संयोजक गोपाल सिंह, वीरेन्द्र कुमार बडगैया, नरेन्द्र सिंह परमार, गनेश विश्वकर्मा, रत्नेश पाण्डेय,बाबू जगदीश प्रसाद जरैनिया, रफत जाफरी सहित कई पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।

झूठे वादों की है सरकार
उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में किसान तड़प रहा है। उसकी समस्याओं से सरकार को कोई लेना देना नहीं है। सरकार के मंत्री एवं विधायकों ने जनता के बीच जो वादे किए थे उन्हें वे पूरा नहीं कर सके हैं। जनता आगामी चुनावों में इसका माकूल जबाव देगी। उन्होंने बताया कि उनकी पार्टी प्रदेश की सभी सीटों पर बिना किसी गठबंधन के अपने बूते पर चुनाव लड़ेगी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned