किसानों का खेती से मुंह मोडऩा चिंता का विषय

Deepak Rai

Publish: Jul, 18 2017 12:49:00 (IST)

Tikamgarh, Madhya Pradesh, India
किसानों का खेती से मुंह मोडऩा चिंता का विषय

 किसान के बच्चे खेती से मुंह मोड़ रहे हैं, यह चिंता का विषय है।  युवा अगर खेती को तकनीकी ढंग से करेगा तो निश्चित ही सीमित जमीन पर किसान अधिक आय प्राप्त कर सकेंगे

टीकमगढ़. जवाहर लाल नेहरू कृषि विश्व विद्यालय के कुलपति डॉ. विजय सिंह तोमर सोमवार को टीकमगढ़ कृषि महाविद्यालय पहुंचे। यहां स्टाफ द्वारा उनका स्वागत किया गया। इसके साथ ही उन्होंने प्रक्षेत्र का भ्रमण का व्यवस्थाओं का जायजा लिया। 

कुलपति विजय सिंह तोमर के टीकमगढ़ कृषि महाविद्यालय पहुंचते ही महाविद्यालय के अधिष्ठाता डॉ. बीएल शर्मा, कृषि विज्ञान केन्द्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. एसएस राय ने उनका स्वागत किया। इसके उपरांत कुलपति ने प्रक्षेत्र का निरीक्षण कर बीज उत्पादन परियोजना के संबंध में जानकारी ली। बीते दिनों पुरानी प्रजातियों के पौधों के संरक्षण के लिए प्रयासरत 12 किसानों का उन्होंने सम्मान किया। 

यह किसान पुरानी प्रजातियों के संरक्षण के लिए केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन द्वारा पूर्व में सम्मानित हो चुके हैं। इस श्रेणी में देश भर से 21 किसानों का चयन किया गया था। जिसमें से 18  किसान प्रदेश से थे। इनमें से 12 किसान टीकमगढ़ के विभिन्न क्षेत्रों के थे। इसके बाद उन्होंने कृषि महाविद्यालय पहुंचकर सभी प्राध्यापकों एवं स्टॉफ की बैठक ली साथ ही परिसर में पौधारोपण किया।  इस दौरान चर्चा में कुलपति ने कहा कि बुन्देलखण्ड में मौसम परिवर्तन एक बड़ी समस्या है। यहां किसानों को मौसम के अनुरूप खेती करना होगी। 


उन्होंने कहा कि किसान के बच्चे खेती से मुंह मोड़ रहे हैं, यह चिंता का विषय है। देश का युवा अगर खेती को तकनीकी ढंग से करेगा तो निश्चित ही सीमित जमीन पर किसान अधिक आय प्राप्त कर सकेंगे। खाद्य प्रसंस्करण के द्वारा भी किसान अधिक लाभ प्राप्त कर सकेंगे। इस अवसर पर डॉ. बीएल साहू, डॉ. आरके प्रजापति, डॉ. संदीप खरे, डॉ. यूएस धाकड़, डॉ. एसके सिंह, डॉ. आईडी सिंह मौजूद रहे। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned