रिश्वत न मिलने पर आवास हुआ निरस्त, पार्किंग ठेकेदार कर रहे अवैध वसूली

Widush Mishra

Publish: Jun, 20 2017 08:28:00 (IST)

Tikamgarh, Madhya Pradesh, India
रिश्वत न मिलने पर आवास हुआ निरस्त, पार्किंग ठेकेदार कर रहे अवैध वसूली

जिला पंचायत सभागार में मंगलवार को जनसुनवाई का आयोजन किया गया। जनसुनवाई के दौरान कलेक्टर प्रियंकादास, जिपं सीईओ अजय कटेसरिया सहित संबंधित अधिकारियों ने लोगों की समस्याओं को सुना।




टीकमगढ़। जिला पंचायत सभागार में मंगलवार को जनसुनवाई का आयोजन किया गया। जनसुनवाई के दौरान कलेक्टर प्रियंकादास, जिपं सीईओ अजय कटेसरिया सहित संबंधित अधिकारियों ने लोगों की समस्याओं को सुना। समस्याओं के निराकरण के निर्देश संबंधित विभागों को दिए गए। मंगलवार को जनसुनवाई के दौरान 174  समस्यामूलक आवेदन प्राप्त हुए।

रिश्वत न देने पर निरस्त हुआ आवास: ग्राम मालपीथा निवासी महिला सुखवती वंशकार ने जनसुनवाई में दिए आवेदन में बताया कि ग्राम के रोजगार सहायक रूपेश समेले ने उनके पुत्र काशी वंशकार से प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत ग्राम आवास के लिए 5 हजार रूपए की मांग की गई। जो उसके पुत्र ने दे दिए।रोजगार सहायक ने एक बार फिर पांच हजार रूपए की मांग की और न देने पर महिला का आवास निरस्त कर दिया।महिला ने खुद के साथ मारपीट का आरोप भी लगाया है।

पटवारी के साथ मारपीट करने वाले हों गिरफ्तार
पटवारी संघ ने आज जनसुनवाई के दौरान एक ज्ञापन सौंपा है। इस ज्ञापन में बताया गया है कि 9 जून को ग्राम नैनवारी में सीमांकन के दौरान पटवारी मनप्यारे सौंर के साथ मारपीट की गई थी। इस घटना के बाद पुलिस ने आरोपियों पर मामला दर्जकिया था परंतु आज तक एक भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। मामले के आरोपी गांव में खुलेआम घूम रहे हैं। इस मामले के आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग पटवारी संघ ने की है। ज्ञापन देने वालों में चन्द्रिका प्रसाद समारी, पुष्पा यादव, लक्ष्मीकांत विश्वकर्मा, निरंजन शर्मा सहित कई लोग मौजूद रहे।

पार्किंग ठेकेदार कर रहे अवैध वसूली
 भवानी सेना ने जनसुनवाई में एक आवेदन दिया है। जिसमें बताया गया है कि रामराजा सरकार की पावन नगरी ओरछा में पार्किंग ठेकेदारों द्वारा शासकीय श्ुाल्क से अधिक पैसों की वसूली की जा रही है। इसके लिए बाकायदा अधिक राशि की रसीदें छपवाईं गई हैं। टीकमगढ़ से ओरछा होते हुए झांसी जा रहे चार पहिया वाहनों से जबरजस्ती पैसे की वसूली की जाती है।इसी वसूली से लोगों को असुविधा होने के साथ ही धार्मिक नगरी की छवि धुमिल हो रही है। इस मामले में भवानी सेना ने कार्रवाई की मांग की है।

बारी तोड़कर कर दिए गड्डे
 ग्राम अस्तौन निवासी खदुवा काछी ने जनसुनवाई में दिए गए आवेदन में बताया कि उसके खेत की बारी को तोड़कर चारों ओर गड्डे खोदकर रास्ता खराब किया जा रहा है।ऐसा करने वाले उसके गांव के ही कुछ लोग हैं। उसने बताया कि इसके पूर्वभी उसकी फसल को बल पूर्वक उठा लिया गया था। जिसकी शिकायत उसके द्वारा की गई थी।

गौचर भूमि को दबंगों से मुक्त कराने की मांग
 ग्राम नंदनपुर निवासी विनोद यादव ने जनसुनवाई में दिए आवेदन में बताया कि ग्राम पंचायत मडखेरा के ग्राम नंदनपुर में शासन की गौचर भूमि है। जिस पर मवेशियों के लिए चारा उपलब्ध रहता था। परंतु 20 से 25 वर्षों से गांव के ही कुछ लोगों ने इस जमीन पर कब्जा कर लिया है।जिससे ग्राम के मवेशियों को इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। चारा न मिलने के कारण मवेशियों की मौत हो रही है।
उप सरपंच ने लगाए सरपंच और रोजगार सहायक पर आरोप
ग्राम पंचायत पैतपुरा की उप सरपंच रतिदेवी कोरी ने जनसुनवाई में दिए गए आवेदन में बताया कि ग्राम में महिला सरपंच है। उसका पुत्र ही रोजगार सहायक है। इन दोनों के द्वारा मिलकर फर्जी प्रस्ताव बनाए जा रहे हैं। जो भी कार्य किए जा रहे हैं वह गुणवत्तापूर्ण नहीं है। उपसरपंच के अनुसार उसे धमका कर उसके जबरजस्ती हस्क्षाकर करवाए जाते हैं। प्रधानमंत्री आवास के नाम पर गरीब लोगों से पैसा वसूल किया जा रहा है। उप सरपंच ने रोजगार सहायक को किसी अन्य ग्राम पंचायत में पदस्थ किए जाने की मांग की है।

उजाड़ दी नीबू की फसल
ग्राम करमारई की महिला स्व सहायता समूह की महिलाओं ने जनसुनवाई में आवेदन देते हुए बताया कि उनके द्वारा एनआरएलएम से ऋण राशि लेकर समूह की सदस्य धन्नी बाई के खेत पर नीबू के पेड़ लगाए थे। एक वर्ष पूर्व लगे यह पेड़ अब फल देने लायक हो गए हैं।10 जून को दोपहर 12 बजे गांव के ही दो लोगों ने फैंसिंग के तार काट कर फसल का उजाड़ दिया गया और पत्तियों में आग लगा दी। मना करने पर दोनों लोग लडऩे पर आमादा हो गए। धन्नीबाई के पति ने मामले की सूचना खिरिया चौकी में दर्ज कराई परंतु सही रिपोर्ट नहीं लिखी गई। महिलाओं ने कार्रवाई की मांग की है।


Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned