scriptngt's instructions, the EC lacks, closed mines, workers unemployed | रोजगार छिना तो याद आई खेतीबाड़ी | Patrika News

रोजगार छिना तो याद आई खेतीबाड़ी

एनजीटी के निर्देश पर ईसी के अभाव में खान विभाग द्वारा समस्त खानियां बंद करने के आदेश व सरकार द्वारा खान धारकों को राहत नहीं मिलने से बेरोजगार हुए बालेसर क्षेत्र के हजारों खान श्रमिकों ने अपने गांवों की ओर रूख कर लिया है।

जोधपुर

Published: June 18, 2016 01:20:58 am

बालेसर के पत्थर खनन क्षेत्र में एनजीटी के निर्देश पर ईसी के अभाव में खान विभाग द्वारा समस्त खानियां बंद करने के आदेश व सरकार द्वारा खान धारकों को राहत नहीं मिलने से बेरोजगार हुए हजारों खान श्रमिकों ने खेतों की ओर रूख किया है।
closed mines
closed mines
ध्यान रहे बालेसर पत्थर खनन क्षेत्र में एनजीटी के निर्देश के बाद ईसी के अभाव में खान विभाग ने सभी खान मालिकों को एक जून से खानों एवं आरा मशीनों पर खनन कार्य नहीं करने के निर्देश दिए थे। इन निर्देशों की पालना व कोर्ट के आदेश की अवहेलना के डर से एक जून से समस्त खानों में कार्य बंद पड़ा है। खान मालिकों ने खानों में अपनी गाडिय़ां खड़ी कर दी है। आरा मशीनों पर भी क्रेनें खड़ी है। खान मालिक ठाले बैठे हैं। खनन क्षेत्र में सन्नाटा पसरा हुआ है।
बालेसर में 6 हजार 150 खाने बंद होने से समस्त खान मजदूर 13 जून को एनजीटी में सुनवाई का इंतजार कर रहे थे, लेकिन 13 व 14 जून को दो दिन हुई सुनवाई में भी अगली तारीख 5 जुलाई तक बढ़ाने से उम्मीदों पर पानी फिर गया है। करोड़ों का कारोबार ठपबालेसर पत्थर खनन क्षेत्र में 6 हजार 130 वैध खानें चलने से प्रतिदिन करीब ढाई से तीन हजार ट्रक, ट्रैक्टर, ट्रोलों में पत्थर माल परिवहन व निर्यात होता था। इस करोबार से प्रतिदिन करोड़ों रुपए का करोबार चलता था। यही नहीं, खान विभाग में भी प्रतिदिन सात लाख रॉयल्टी जमा होती थी। 
खेतो की ओर चले

निराश हजारों श्रमिक बालेसर छोड़कर अपने गांवों में खेती करने चले गए हैं। श्रमिकों ने बताया कि 5 जुलाई को एनजीटी में सुनवाई होगी। तब तक बैठे क्या करें। बारिश होने वाली है, एेसे में खेतों की तैयारी करेंगे। खानें शुरू नहीं हुई तो खेती तो करेंगे अन्यथा परिवार चलाना मुश्किल हो जाएगा। 

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: बीजेपी ऐसे भिखारियों का हाथ पकड़कर खुद को बता रही महाशक्ति.. ‘सामना’ के जरिए फिर शिवसेना ने कसा तंजकेरल में राहुल गांधी के दफ्तर पर हुए हमले के बाद बड़ी कार्रवाई, DSP निलंबित, ADGP करेंगे मामले की जांच25 जून 1983, 39 साल पहले भारत ने रचा था इतिहास, लॉर्ड्स में वर्ल्ड कप जीतकर लहराया तिरंगाकौन हैं तपन कुमार डेका, जिन्हें मिली इंटेलिजेंस ब्यूरो की कमानपाकिस्तान की खुली पोल, 26/11 मुंबई हमले का मास्टर माइंड साजिद मीर जिंदा, ISI ने मोस्ट वांटेड आतंकी को बताया था मराMumbai News Live Updates: शिंदे के गढ़ ठाणे में निषेधाज्ञा लागू, 30 जून तक खुलेआम लाठी-डंडे, हथियार लेकर चलना व पोस्टर जलाना प्रतिबंधितMaharashtra Political Crisis: एक्शन में शिवसेना! अयोग्य करार देने के लिए डिप्टी स्पीकर को भेजा 4 और MLA के नाम, 16 बागियों पर भी कार्रवाई की तैयारीकर्नाटक के बेलागवी जिले में कनस्तर में मिले 7 भ्रूण, स्वास्थ्य विभाग ने दिए जांच के आदेश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.