Shocking: जब 'झांसी की रानी' को सात साल की उम्र में होना पड़ा था रंगभेद का शिकार!

Dilip chaturvedi

Publish: Mar, 16 2017 05:44:00 (IST)

TV News
Shocking: जब 'झांसी की रानी' को सात साल की उम्र में होना पड़ा था रंगभेद का शिकार!

'झांसी की रानी' फेम उल्का गुप्ता ने मनोरंजन जगत में फैले रंगभेद का खुलासा कर सबको चौंका दिया...

मुंबई। दुनिया का ऐसा कोई कोना नहीं, जो रंगभेद से अछूता हो। यह समाज की एक ऐसी बीमारी है, जिसका कोई इलाज नहीं है। यह बीमारी सिर्फ समाज के भीतर ही नहीं, बल्कि ग्लैमर वल्र्ड में भी फैली हुई है। बिग ब्रदर शो में शिल्पा शेट्टी को इसका शिकार होना पड़ा था। हॉलीवुड के सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों में से एक ऑस्कर भी रंगभेद के कारण हमेशा विवादों में रहा है। इस बीमारी से भारतीय फिल्म व टीवी जगत भी अछूता नहीं रहा। असल में सिनेमा जगत में अक्सर रंगभेद को लेकर खबरें आती ही रहती हैं। इस बार छोटे पर्दे की एक अदाकारा ने मनोरंजन जगत में फैले रंगभेद का खुलासा कर सबको चौंका दिया है।

ulka1

जी हां, ऐसा ही कुछ हुआ था 'झांसी की रानी' फेम उल्का गुप्ता के साथ। उल्का झांसी की रानी सीरियल में लीड किरदार में थीं। उन्होंने हाल ही दिए एक इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया कि 7 साल की उम्र में उन्हें रंगभेद का शिकार होना पड़ा था। उल्का ने कहा, 'मुझे बचपन से ही एक्टिंग का बहुत शौक था, लेकिन बहुत छोटी उम्र में ही मुझे इंडस्ट्री के डार्क साइड का पता चल गया। उसी दौरान मेरा एक और शो 'रेशम डंक' शुरू हुआ था, लेकिन कमजोर टीआरपी की वजह से वह बंद हो गया। इसके बाद मैं और मेरे पापा ऑडिशंस देने जाते थे, लेकिन उस समय मुझे यह जानकार बड़ी निराशा हुई कि निर्माता गोरी लड़की की तलाश में थे। उनके मुताबिक गोरी लड़कियां अप-मार्केट होती हैं।'

A post shared by Ulka Gupta (@ulkagupta) on


उल्का ने अपना दर्द बयां करते हुए बताया कि उनके सांवले रंग के कारण उन्हें बहुत बार रिजेक्शन झेलना पड़ा। उन्होंने यह भी बताया कि मेरे कॉम्पलेक्सन के कारण ही मुझे 'सात फेरे' में सलोनी की बेटी का किरदार मिला था। उन्होंने बताया कि मेरे कास्टिंग एजेंट को अब भी प्रोडक्शन हाउस वाले गोरी लड़की लाने के लिए कहते हैं। उल्का कहती हैं, 'मैं अब ऐसे ऑडिशंस में नहीं जाती। गोरा होने से कोई अप मार्केट नहीं दिखता। मैं चाहती हूं मैं अपने टैलेंट से आगे बढूं।'

A post shared by Ulka Gupta (@ulkagupta) on


उल्का अब 19 साल की हो चुकी हैं और साउथ इंडियन इंडस्ट्री में काम कर रही हैं। उल्का तमिल फिल्म रुद्रमादेवी में नजर आ चुकी हैं। उन्होंने हिंदी और मराठी फिल्मों में भी काम किया है, जो जल्द रिलीज हो होने वाली हंै। बहरहाल, उल्का इस इंडस्ट्री की पहली लड़की नहीं है जिसे रंगभेद का शिकार होना पड़ा है। 'पाच्र्ड' फेम अभिनेत्री तनिष्ठा चटर्जी को हाल ही एक शो के दौरान इसका सामना करना पड़ा था और प्रियंका चोपड़ा भी रंगभेद का शिकार हो चुकी हैं, लेकिन आज इंटरनेशनल स्टार हैं।

A post shared by Ulka Gupta (@ulkagupta) on


A post shared by Ulka Gupta (@ulkagupta) on


A post shared by Ulka Gupta (@ulkagupta) on

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned