11 दिन की मशक्कत, तीन डॉक्टरों  ने 3 घंटे में की अनोखी सर्जरी

Ujjain Desk

Publish: Jun, 21 2017 01:53:00 (IST)

ujjain
11 दिन 
की मशक्कत, तीन डॉक्टरों  ने 3 घंटे में की अनोखी सर्जरी

विश्व में सामने आए हैं अब तक 16 मरीज, जिला अस्पताल में सर्जरी...नोड्यूलर हिड्रेनोमा से पीडि़त देश के पहले मरीज का सफल ऑपरेशन

उज्जैन. गंभीर बीमारी नोड्यूलर हिड्रेनोमा का शहर के जिला अस्पताल में मंगलवार को सफल ऑपरेशन किया गया। इस बीमारी से पीडि़त यह देश का पहला मरीज सामने आया है। जिसे यह बीमारी डायग्नोस करने में डॉक्टरों को 11 दिन की मशक्कत करना पड़ी। सीमित संसाधनों के बीच तीन डॉक्टरों की टीम ने तीन घंटे में यह सर्जरी की।
विश्व में इस बीमारी के अब तक केवल 16 मामले ही सामने आए हैं। कालूराम पिता अमराजी, 45 वर्ष निवासी लाड़वन आगर बीते 35 सालोंं से लारगं्रथी में ट्यूमर से पीडि़त थे। जिसके चलते उनकी जीभ पूरी तरह से स्वादहीन हो गई थी। इसके अलावा सीधे कान से सुन भी नहीं पाते थे। ऑपरेशन करने वाले डॉक्टर अजय दिवाकर ने बताया कि दो महीने पहले कालूराम ने गठान निकलवाने के लिए क्षेत्रीय चिकित्सक से संपर्क किया। जिसने ट्यूमर में चीरा लगा दिया। जिस वजह से ट्यूमर गोभी के फूल की तरह बाहर आ गई। 11 दिन पहले कालूराम जिला अस्पताल पहुंचे। उनकी हालत देखकर उन्हें भर्ती किया। गठान की बायोप्सी करवाने के बाद जानकारी मिली कि उन्हें नोड्यूलर हिड्रेनोमा नाम की बीमारी है। जिसके विश्व में केवल में 16 मरीज ही सामने आए हैं। यह देश का पहला मामला है। मंगलवार को ईएनटी विशेषज्ञ डॉ.पीएन वर्मा और एनेस्थेटिक डॉ.वाय के चौहान के साथ मिलकर सुबह 10 बजे ऑपरेशन शुरू किया गया। 1 बजे सर्जरी पूर्ण की गई। मरीज के जबड़े के नजदीक से 5 बाय 5 इंच की करीब 300 ग्राम वजनी गठान निकाली गई। मरीज की जांघ की चमड़ी को गठान वाली जगह पर इम्प्लांट किया गया।

6 माह में मौत निश्चित
डॉ.वर्मा ने बताया कि ट्यूमर ने आंख, नाक, गले और मुंह को रक्त सप्लाई करने वाली मुख्य नस को जद में ले लिया था। यदि उसे उपचारित नहीं किया जाता तो दो से तीन महीने में यह ब्रेन पर हमला कर देती। इसके बाद मरीज का बचना मुश्किल था। 6 महीने के भीतर उसकी मौत होने की संभावना बढ़ जाती। ट्यूमर को जांच के लिए मेडिकल कॉलेज भेजा गया है। आईआईएम में किया जाएगा प्रजेंटेशन देश के इस पहले मरीज के सफल ऑपरेशन और इसकी केस स्टडी का आईआईएम नई दिल्ली में प्रजेंटेशन किया जाएगा। डॉ.दिवाकर ने बताया कि इसके लिए प्रजेंटशन तैयार किया जा रहा है। मेडिकल स्टूडेंट को इसे पढ़ाया जाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned