सब को मिलेगा एडमिशन क्योंकि...

Ujjain Desk

Publish: Jun, 19 2017 07:15:00 (IST)

ujjain
सब को मिलेगा एडमिशन क्योंकि...

उज्जैन के कॉलेजों की 17 हजार सीट, 5 हजार विद्यार्थियों ने ही कराया प्रवेश पंजीयन, इंटरनेट व किसान आंदोलन से प्रभावित हुआ पहला चरण

उज्जैन. सरकारी और निजी कॉलेजों में प्रवेश प्रक्रिया के पहले चरण में आवेदन के साथ ही प्रवेश सुनिश्चित हो गया। उच्च शिक्षा विभाग की तरफ से स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम के लिए ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया शुरू हुई। विद्यार्थियों ने कॉलेज और पाठ्यक्रम के लिए ऑनलाइन पंजीयन किया, लेकिन उज्जैन के कॉलेजों की 17 हजार सीट के लिए करीब 5 हजार विद्यार्थियों ने ही पंजीयन करवाया। इसी के चलते सभी कॉलेजों की कई सीट खाली रह जाएंगी और इन सीट पर दूसरे चरण की प्रक्रिया में प्रवेश होगा।

देर शाम तक घोषित नहीं सूची

उच्च शिक्षा विभाग की तरफ से स्नातक स्तर के विद्यार्थियों को कॉलेज आवंटन सोमवार शाम को घोषित किया जाना था, लेकिन देर शाम तक सूची घोषित नहीं हुई। कुछ विद्यार्थी कॉलेज भी पहुंचे। हालांकि आवंटन की सूचना सभी विद्यार्थियों को मोबाइल फोन पर मिल जाएगी।

कई कारणों से पिछड़ गई प्रवेश प्रक्रिया

-स्नातक स्तर के विद्यार्थियों को नहीं मिला पर्याप्त समय। 26 मई की जगह 3 जून से लिंक शुरू हुई। फिर इंटरनेट बंद हो गया।

-सर्वर डाउन होने से भी प्रक्रिया प्रभावित हुई। विद्यार्थी नहीं पहुंचे।

-स्नातक स्तर पर सेमेस्टर खत्म होने के कारण भी विद्यार्थियों ने पंजीयन के पहले चरण और पात्रता सहित अन्य नियमों से परेशानी हुई।

-स्नातकोत्तर स्तर पर अंतिम सेमेस्टर का रिजल्ट पंजीयन के बाद घोषित हुआ है।

साइंस संकाय में पढ़ सकता है असर

कॉलेजों में बीए और बीकॉम में सामान्य तौर पर प्रवेश सभी को मिल जाता है। पहले चरण में आवेदन कम होने का असर साइंस संकाय में पड़ सकता है। दरअसल, साइंस फैकल्टी के अंतर्गत कई स्ट्रीम (कम्प्यूटर साइंस, इलेक्ट्रॉनिक्स) व विषयों के समूह में बीएससी पाठ्यक्रम संचालित होता है। इन विषयों में प्रवेश के लिए मारामारी रहती है।

अगर कम प्रतिशत वाले विद्यार्थी ने पहचे चरण में पंजीयन करवा लिया होगा तो उसे प्रवेश मिल जाएगा। एेसे में ज्यादा प्रतिशत वाले विद्यार्थी दूसरे चरण में अपनी चाह की स्ट्रीम व समूह से वंचित रह सकते हैं। कॉलेजों में बीएससी की एक समूह में 60 तक सीट निर्धारित है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned