कचोरी, समोसे और सेंव बढ़ा रहे दिल के मरीज 

Ujjain Desk

Publish: Mar, 20 2017 01:10:00 (IST)

Ujjain, Madhya Pradesh, India
कचोरी, समोसे और सेंव बढ़ा रहे दिल के मरीज 

शहर के 40 से 65 उम्र वर्ग के 90 प्रतिशत शहरवासी दिल के मरीज हैं। यह बात रविवार को माधव सेवा न्यास में आयोजित हृदय रोग परीक्षण शिविर में सामने आई  

उज्जैन. शहर के 40 से 65 उम्र वर्ग के 90 प्रतिशत शहरवासी दिल के मरीज हैं। यह बात रविवार को माधव सेवा न्यास में आयोजित हृदय रोग परीक्षण शिविर में सामने आई है। चौंकाने वाली बात ये है कि आसपास के शहरों से हमारे शहर के रहवासियों के दिल की हालत ज्यादा खराब है। अहमदाबाद की हृदय रोग विशेषज्ञ की टीम के अनुसार कचोरी-समोसे और सेंव के अधिक उपयोग के चलते यह स्थिति बन रही है। 


रविवार सुबह 9 से शाम 4 बजे तक माधव सेवा न्यास में हृदय रोग परीक्षण शिविर आयोजित किया गया।  अहमदाबाद के हृदय रोग विशेषज्ञ डॉॅ.अनिल जैन सहित 10 डॉक्टरों की टीम ने मरीजों का परीक्षण किया। शिविर में 615 मरीजोंं का परीक्षण किया गया। दो दिवसीय शिविर में शनिवार शाम को डॉ.जैन ने फिल्म से हृदय संबंधी बीमारियों एवं बचने के उपाय के बारे में जानकारी दी। शिविर के दौरान 550 से अधिक जांच कराने पहुंचे लोगों दिल के मरीज निकले। इनमें से 350 मरीज ऐसे मिले जो गंभीर हृदय रोग से ग्रसित थे। जिन्हें बायपास और इंजियोप्लास्टि कराने की सख्त आवश्यकता है। 


नियंत्रण की जरूरत 

डॉ. जैन ने बताया कि शहर की जनसंख्या में हृदय रोगियों का यह प्रतिशत बेहद चिंताजनक है। यहां के खान-पान में कचोरी-समोसे, पोहा-जलेबी, सेंव और बेसन से निर्मित व्यंजन अधिक खाए जाते हैं। इसी वजह से आसपास के शहरों से अधिक हृदय रोगी यहां मिले। शहर से अहमदाबाद पहुंचने वाले हृदय रोगियों की संख्या भी अन्य शहरों की तुलना में अधिक रहती है। इस प्रकार के खान-पान पर तुरंत नियंत्रण करने की आवश्यकता है। इस प्रकार के व्यंजनों के कारण ही पिछली, मौजूदा अधिक संख्या मेंं हृदय रोगों का शिकार हो रही है। जिसका असर आने वाली पीढ़ी पर भी पड़ेगा। 


जूस नहीं, फलों का करें सेवन


डॉ.जैन ने बताया कि हृदय रोगों से बचने के लिए निरंतर फलों का सेवन करें। जूस की बजाए फल खाएं। जूस में फलों में पाया जाने वाला फास्फोरस निकल जाता है। जो हृदय के लिए बेहद आवश्यक है। इसके अलावा आरामदायक वस्तुओं से बचें। खुद का काम खुद करें। सप्ताह में कम से कम 5 बार 20-20 मिनट व्यायाम करें। घी-तेल की वस्तुओं का सेवन कम से कम करें। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned