नागदा का जलस्तर बढ़ेगा यह शिव मंदिर, कैसे पढ़ें समाचार

Ujjain Desk

Publish: Jul, 18 2017 12:07:00 (IST)

nagda
नागदा का जलस्तर बढ़ेगा यह शिव मंदिर, कैसे पढ़ें समाचार

भगवान शिव के विभिन्न प्रकार के उपासक देखने को मिलते हैं, लेकिन नागदा के दो एक भक्त ऐसे भी हैं, जिनको शिव भक्ति इतनी प्रिय है, कि वे एक करोड़ रुपए का शिव मंदिर बनवा रहे हैं। हम बात कर रहे हंै, व्यापारी प्रवीण कोचर व अनोखीलाल जैन की।

नागदा. भगवान शिव के विभिन्न प्रकार के उपासक देखने को मिलते हैं, लेकिन नागदा के दो एक भक्त ऐसे भी हैं, जिनको शिव भक्ति इतनी प्रिय है, कि वे एक करोड़ रुपए का शिव मंदिर बनवा रहे हैं। हम बात कर रहे हंै, व्यापारी प्रवीण कोचर व अनोखीलाल जैन की। पेशे से व्यवसायी कोचर व जैन  ने शहर  से 5 किमी दूर स्थित महिदपुर रोड पर पातालेश्वर पंचमुखी शिवधाम बारह ज्त्योतिर्लिंग का निर्माण करवा रहे हैं। जैन समाज के उक्त दोनों व्यक्ति को भोले भगवान काफी पसंद हैं। मंदिर की खासियत की बात करें तो मंदिर जमीन से 18 फीट नीचे हैं।
भगवान को चढ़ाए जाने वाला जलाभिषेक मंदिर के बाहर स्थित एक कुएं में जमा होगा। जिससे क्षेत्र का जलस्तर बढ़ेगा। सार्वजनिक राशि से बनने वाले मंदिर में प्रवीण कोचर व अनोखीलाल जैन मंदिर निर्माण में अपना पूरा समय दे रहा है।
बाबा की भक्ति ने दी प्रेरणा: मंदिर निर्माण करवाने वाले प्रवीण कोचर व अनोखीलाल जैन के अनुसार उक्त मंदिर बनाने की प्ररेणा उन्हें भोले की भक्ति से मिली है। साथ ही दूसरा प्रयोजन यह है, कि जिलेवासियों को पंचमुखी भगवान शिव के दर्शन करने अन्य जिलों में नहीं जाना पड़े। मंदिर का निर्माण वर्तमान में अभी शुरू हुआ है। कोचर के अनुसार मंदिर बनने तक की कुल लागत एक करोड़ रुपए आंकी गई है। जिसमें शिव मंदिर के समीप अवंति पाश्र्वनाथ शिवधाम शामिल है। मंदिर की सबसे बड़ी खासियत यह है, कि मंदिर में 12 ज्योर्तिलिंगों को स्थापित किया जाएगा। जिसकी परिक्रमा से श्रद्धालुओं को वास्तविक ज्यार्तिलिंगों के दर्शन समान लाभ प्राप्त होगा।
जलाधारी के लिए बनाया कुआं: मंदिर के समीप ही एक जलाधिकारी के जल निकासी के लिए एक कुआं बनाया गया है। जिसमें भगवान को चढ़ाए जाने वाले जल कुएं में पहुंचेगा। जहां से आपस पास के क्षेत्रों का जलस्तर बढ़ेगा। मंदिर निर्माण में पर्यावरण की दृष्टि को खास ध्याम में रखा गया है। मंदिर को धरातल में 18 फीट नीचे 31-31 व उपरी सतह पर 60 -120 के आकार में बनाया जा रहा है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned