10 साल बाद विशेष संयोग में आ रही शनिश्चरी अमावस्या...जानिए क्या खास है इस दिन

Lalit Saxena

Publish: Jun, 19 2017 09:27:00 (IST)

Ujjain, Madhya Pradesh, India
10 साल बाद विशेष संयोग में आ रही शनिश्चरी अमावस्या...जानिए क्या खास है इस दिन

शनिश्चरी अमावस्या 24 जून को है। आषाढ़ मास में शनिश्चरीय अमावस्या का योग 10 वर्षो बाद बना है। अमावस्या को त्रिवेणी स्थित शनि मंदिर में हजारों श्रद्धालु जुटेंगे,शिप्रा में स्नान कर भगवान शनिदेव की पूजा करेंगे।

उज्जैन. शनिश्चरी अमावस्या 24 जून को है। आषाढ़ मास में शनिश्चरीय अमावस्या का योग 10 वर्षो बाद बना है। अमावस्या को त्रिवेणी स्थित शनि मंदिर में हजारों श्रद्धालु जुटेंगे,शिप्रा में स्नान कर भगवान शनिदेव की पूजा करेंगे। आयोजन को लेकर प्रशासन की ओर से तैयारियां प्रारंभ कर दी है।

शनिश्चरी अमावस्या को योग
आषाढ़ को भैरव बाबा का मास माना जाता है। इसमें शनिश्चरी अमावस्या को योग भगवान शनिदेव और भैरव बाबा विशेष महत्व होगा। ज्योतिषाचार्य पं.अमर डिब्बावाला अनुसार आषाढ़ में शनिश्चरीय अमावस्या का योग पूर्व में 2007 में बना था,10 वर्ष बाद 2017 में फिर से यह विशेष योग आया है। ऐसा योग 2037 में आएगा। फिलहाल शनि की चाल वक्री है। ऐसे में आषाढ़ मास की शनिश्चरीय अमावस्या पर शनिदेव और बाबा भैरव के पूजा-अर्चना,अनुष्ठान करने से विशेष लाभ होने के साथ शनि की दशा से राहत मिलेंगी।

शनि मंदिर पर प्रशासन इंतजाम जुटा
शनिश्चरीय अमावस्या को इंदौर रोड त्रिवेणी स्थित शनि मंदिर पर हजारों की संख्या में श्रद्धालु जुटेंगे। इसके लिए प्रशासन ने तैयारियां प्रारंभ कर दी है। घाट की साफ-सफाई के साथ श्रद्धालुओं के स्नान और अन्य इंतजाम किए जा रहे है। कलेक्टर संकेत भोंड़वे,एसपी मनोहर वर्मा,नगर निगम आयुक्त आशीषसिंह ने 20 से अधिक विभागों के अधिकारियों के साथ तैयारियों पर चर्चा कर श्रद्धालुओं की सुविधा और सुरक्षा के इंतजाम के अनुसार योजना बनाकर कार्य करने के निदेश दिए है।



The sum of shani Amavasya in the month of Aashadh

पहली बार केसलेश दान
शनि मंदिर में पहली बार दान के लिए केसलेश दान लिया जाएगा। तहसीलदार संजय शर्मा ने बताया कि कलेक्टर के निर्देश पर बैंक ऑफ इंडिया के सहयोग से शनिश्चरीय अमावस्या को स्वैप कार्ड मशीन लगाई जाएगी। इससे श्रद्धालु मंदिर में ऑन लाइन दान कर सकेंगे। इसके अलावा पॉलीथिन के उपयोग के लिए सख्ती से कार्रवाई होगी। श्रद्धालुओं के स्नान के लिए फव्वारे भी लगाए जा रहें है। मंदिर में स्थापित सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned