क्या हुआ जो ठप्प रहा विक्रम विवि में कामकाज, परेशान हुए विद्यार्थी 

Rishi Sharma

Publish: Feb, 16 2017 07:52:00 (IST)

Ujjain, Madhya Pradesh, India
क्या हुआ जो ठप्प रहा विक्रम विवि में कामकाज, परेशान हुए विद्यार्थी 

विवि में कर्मचारियों की सामूहिक हड़ताल, ठप रहा कामकाज, बाहरी जिलों से काम के लिए आए विद्यार्थी लौटे खाली हाथ, अध्ययनशालाओं में भी ताले, शासन के खिलाफ किया प्रदर्शन

उज्जैन. विक्रम विश्वविद्यालय के तृतीय और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी गुरुवार को सामूहिक अवकाश पर रहे। मध्यप्रदेश विश्वविद्यालय कर्मचारी महासंघ के आव्हान पर 17 सूत्रीय मांगों के लिए प्रदेशव्यापी विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। इसी का असर विवि में दिखा और कामकाज पूरी तरह ठप रहा। प्रशासनिक भवन के साथ अध्ययनशालाओं में भी ताले लटके रहे। कर्मचारियों की हड़ताल के चलते अधिकारी भी नहीं पहुंचे। इधर, इस सब का सबसे ज्यादा खमियाजा बाहरी जिलों के विद्यार्थियों को उठाना पड़ा। प्रतिदिन विश्वविद्यालय में 200 से अधिक विद्यार्थी डब्ल्यूएच, मार्कशीट सुधार, मार्कशीट लेने, पात्रता, प्रवचन आदि प्रमाण पत्र काम से पहुंचे हैं। यह सब काम पूछताछ कार्यालय से होते हैं। जहां ताला लटका रहा है। वहीं विभिन्न पाठ्यक्रम की टेबल की खिड़की भी बंद रही है।

एकजुट हुए कर्मचारी, नारेबाजी की
विवि में गुरुवार सुबह 11 बजे ही समस्त कर्मचारी प्रशासनिक भवन में एकजुट हो गए। यहां पर संघ के पदाधिकारी कमल जोशी ने कर्मचारियों को संबोधित किया। इसमें अपनी मांगों के साथ जमकर शासन को कोसा। कर्मचारियों का कहना था कि शासन विश्वविद्यालय और कर्मचारियों के बीच मतभेद कर माहौल खराब कर रहा है। इनके पत्रों में विरोधाभास रहता है। अधिकार छीनकर हर काम की जिम्मेदारी विवि कार्यपरिषद पर डाल दी जाती है। इससे कर्मचारियों का अहित हो रहा है, इसलिए हड़ताल की नौबत आई है। इस दौरान अमरनाथ सिंह, राजू यादव, लक्ष्मीनारायण संगत, ललित सिंह, विनोद खले, महेंद्र सेंगर आदि उपस्थित रहे।



ये हैं प्रमुख मांग
महासंघ की प्रमुख में मांग में दैवेभो का नियमितीकरण, नए पदों का सृजन, तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के साथ अनुभाग स्तर के अधिकारियों की समस्या, समयमान वेतनमान, केंद्र के समान सातवां वेतनमान, पेंशन, कर्मचारियों को कार्यपरिषद व अन्य में सहभागिता सहित अन्य मांग शामिल हैं।

परेशान हुए विद्यार्थी
  • रतलाम से आए मार्कशीट के लिए
रतलाम कॉलेज के विद्यार्थी राहुल सनोरिया एमएससी तृतीय सेमेस्टर की मार्कशीट के लिए रतलाम से विवि पहुंचे। हड़ताल की जानकारी नहीं होने के कारण घंटों विवि परिसर में घुमते रहे। जानकारी मिली कि आज काम नहीं होगा तो वापस लौट गए।
  • 5 चक्कर, नहीं मिली ट्रांसक्रिप्ट
रतलाम की छात्रा रीना पटेल की ट्रांसक्रिप्ट के लिए उनका भाई 5वीं वार गुरुवार को विवि पहुंचा। उसका कहना है कि हर बार कुछ कमी के कारण काम नहीं हुआ। आज हड़ताल के चलते वापस लौट रहा हूं।

  • नहीं मिली मार्कशीट
देवास के सुमित सोलंकी बीए द्वितीय सेमेस्टर की मार्कशीट के लिए विवि पहुंचे। इनकी मार्कशीट लंबे समय से अटकी है। हड़ताल से यह भी खाली हाथ लौट गए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned