अरबपति एआरटीओ आरएस यादव को कोर्ट से फिर लगा झटका

Patrika Varanasi
 अरबपति एआरटीओ आरएस यादव को कोर्ट से फिर लगा झटका

सीएम योगी सरकार के लिए आसान नहीं है निलंबित एआरटीओ की सम्पत्ति का पता करना, जानिए क्या है कहानी


वाराणसी. भ्रष्टाचार के आरोप में निलंबित चंदौली के एआरटीओ आरएस यादव को मंगलवार को कोर्ट ने फिर झटका दिया है। धमकी देने के एक मामले में एडीजे चतुर्थ मोहम्मद गुलाम उल मदार की अदालत ने आरएस यादव को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। कोर्ट के सख्त रूख से साफ हो गया है कि अभी एआरटीओ को जेल में ही रहना पड़ेगा। 

जिला जेल से कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच एआरटीओ को कचहरी परिसर लाया गया था, वहां पर पहले से ही मीडिया का जमावड़ा लगा हुआ था। पुलिस ने एडीजे चतुर्थ मोहम्मद गुलाम उल मदार की अदालत में आरएस यादव को पेश किया। वहां पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने निलंबित एआरटीओ को धमकी देने के एक मामले में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। इस बात की पुष्टि खुद डीजीसी अनिल सिंह ने की है। इस मामले की अगली सुनवाई अब 3 जुलाई को होगी।




देखे वीडियो:-



24 जुलाई को एआरटीओ को फिर कोर्ट में होना होगा पेश
एआरटीओ आरएस यादव को भ्रष्टाचार के मामले में 24 जुलाई को एंटी करप्शन कोर्ट में पेश होना होगा। वहां से एआरटीओ को जमानत मिल भी जाती है तो भी अन्य मामलों के चलते जेल में ही रहना होगा।

आसान नहीं है सीएम योगी सरकार के लिए सम्पत्ति की जानकारी जुटाना
सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार के लिए निलंबित एआरटीओ आरएस यादव की अवैध सम्पत्ति का पता करना बहुत कठिन है। चंदौली पुलिस अभी तक एआरटीओ को डाइवर महेन्द्र मौर्या को खोज नहीं पायी है। इस बात की चर्चा तेज हो गयी है कि एआरटीओ का मामला मैनेज करने के लिए कई लोग लग गये हैं, जिनकी बीजेपी में अच्छी पकड़ है। यदि ऐसा हो जाता है तो एआरटीओ का प्रकरण मैनेज हो जायेगा और आरएस यादव जेल से बाहर आ जायेंगे।


इस मामले में आरएस यादव को कोर्ट ने किया था तलब
अलीनगर थाने में एआरटीओ व उनके सहयोगियों पर धमकी देने के आरोप में आरएस यादव के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। वादी का आरोप है कि एआरटीओ ने एक ट्रक चालक से सात हजार रुपये की इंट्री कराने को कहा था साथ ही धमकी दी थी कि यदि वह ऐसा नहीं करता है तो प्रेशर हार्न लगाने व ट्रक चालक द्वारा वर्दी नहीं पहनने के आरोप में चालान करवा दूंगा। ऐसे में क्षेत्राधिकारी सदर, चंदौली त्रिपुरारी पाण्डेय ने कोर्ट से आरएस यादव को रिमांड पर देने को कहा था। कोर्ट ने सुनवाई के बाद पुराने में मामले ही नयी धाराओं को बढ़ाते हुए आरएस यादव को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned