पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र से मिल रही सीएम योगी को चुनौती 

Sunil Yadav

Publish: Apr, 21 2017 03:19:00 (IST)

varanasi
 पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र से मिल रही सीएम योगी को चुनौती 

 क्या सीएम योगी  खत्म कर पाएगें वीआईपी कल्चर ?

वाराणसी  गुरुवार शाम विभागों के प्रजेंटेशन देखने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुलाई थी बैठक । सीएम ने प्रजेंटेशन देखने के  बाद लिया बड़ा फैसला। यह फैसला बैठक से जुड़ा नहीं था। बल्की पीएम मोदी के फैसले वीआईपी कल्चर को खत्म करने के लिए लाल बत्ती हटाने के फैसल पर था। योगी ने मोदी की सराहना करते हुए यूपी में लाल और नीली बत्ती दोनों हटाने का फरमान जारी कर दिया, वो भी पीएम के फैसले  से दस दिन पहले यानी 21 अपैल से यूपी के अधिकारी व मंत्री लाल व नीली बत्ती का प्रयोग नहीं करगें। जिसका सभी ने स्वागत भी किया। मोदी ने वीआईपी कल्चर खत्म करने का जो नियाम लागू किया वह 1 मई से प्रभावी होगा। सिर्फ 5 संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों और इमरजेंसी सर्विसेज को दी गई है छूट। जिसके बाद नीली व लाल बत्ती हटाने का सिलसिला शुरु हो गया। पीएम मोदी ने कहां था खत्म हो वीआईपी कल्चर। यहां हर आदमी है वीआईपी । 




लेकिन ये क्या पहले ही दिन योगी के फैसले को चुनौती : देखे वीडियो





पीएम मोदी के संसदी क्षेत्र में दिखी नीली बत्ती लगी कार। नंबर से पता चलता है कार तो गजीपुर की है लोकिन कार मालिक का पता नहीं चला। कार मालिक यातायात नियमों को ताक पर रख चढ़ा रखी है ब्लैक फिल्म तो वहीं दूसरी ओर गाड़ी में लगी नंबर प्लेट भी यातायात नियमों को धता दे रही हैं। एसे में सवाल उठता है क्या योगी के फरमान का असर इनपर होगा? क्या यूपी में संवैधानिक पदों व इमरजेंसी सर्विसेज को छोड़ कर लाल व नीली बत्ती के मोह से मुक्त हो पाएंगा।    

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned