चोलापुर पुलिस को लगा झटका, प्लाट मालिक ने किया कोर्ट में सरेंडर

Patrika Varanasi
चोलापुर पुलिस को लगा झटका, प्लाट मालिक ने किया कोर्ट में सरेंडर

आटो चालक की हत्या के बाद पुलिस कर ही थी खोज, जानिए क्या है मामला

वाराणसी. चोलापुर पुलिस को बुधवार को तगड़ा झटका लगा है। आटो चालक की हत्या के बाद जिस प्लाट पर खून के छींटे मिले थे उस प्लाट मालिक का नाम पाण्डेयपुर नईबस्ती निवासी अमित जायसवाल से पुलिस पूछताछ करना चाहती थी जिसके चलते चोलापुर पुलिस ने देर रात में उसके घर दबिश भी दी थी लेकिन अमित जायसवाल नहीं मिला था। अमित जायसवाल पुलिस की सारी तैयारी को धता बताते हुए छेडख़ानी के एक पुराने मामले में कोर्ट में सरेंडर कर दिया है।
चोलपुर पुलिस के लिए अब आटो चालक अमित प्रजापति (23) की हत्या सिरदर्द साबित होने वाली है। लाश मिलने के 24 घंटे बीत चुके हैं लेकिन पुलिस अभी तक आटो चालक का सिर तक बरामद नहीं कर पायी है। पुलिस ने मंगलवार को देर रात में पाण्डेयपुर नईबस्ती में छापा मार कर अमित जायसवाल के परिवार को उठाया था पुलिस का दवाब का असर हुआ कि अमित जायसवाल को कोर्ट में सरेंडर करना पड़ा है।


गिरफ्तारी में होगी जितनी देर, उतना सबूत मिटने का रहेगा खतरा
पुलिस को सिर्फ अमित प्रजापति का धड़ मिला है और अभी तक पुलिस सिर तक नहीं बरामद कर पायी है। सिर खोजने में परेशान पुलिस को प्लाट मालिक के सरेंडर करने से दोहरा झटका लगा है। पुलिस के लिए सबसे बड़ी परेशानी अब रिमांड बनवाने की होगी। पुलिस जितना देर में हत्याकांड से जुड़े लोगों को पकड़ेगी। उतना ही सबूत मिटने का खतरा रहेगा। फिलहाल चोलापुर पुलिस पूरी तरह से बैकफुट पर आ चुकी है और लोगों की गिरफ्तारी तक पुलिस खुलासा नहीं कर पायेगी।


पुलिस को है प्लाट मालिक पर संदेश
मृतक अमित प्रजापति व अमित जायसवाल एक ही मुहल्ले में रहते हैं। मुहल्ले के लोगों की माने तो कुछ दिन पूर्व गली में पत्थर बिछाने को लेकर अमित जायसवाल के परिवार व मुहल्ले वालों में जमकर विवाद हुआ था। यह संजोग है या फिर कुछ और। जहां से आटो चालक का शव बरामद हुआ है वहीं पास में अमित जायसवाल का प्लाट है और वहां पर पुलिस ने खून के छींटे भी देखे हैं इसके अतिरिक्त फावड़ा भी मिला है और वहां की मिट्टी देखने से पता चलता है कि खोद कर कुछ छिपाने का प्रयास किया गया है। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned