अखिलेश यादव की सत्ता के बाद अब मुलायम सिंह  की सीट पर टिकी भाजपा की निगाहें

Azamgarh, Uttar Pradesh, India
अखिलेश यादव की सत्ता के बाद अब मुलायम सिंह  की सीट पर टिकी भाजपा की निगाहें

सपा के गढ़ में भाजपा को मजबूत करना बड़ी चुनौती

आज़मगढ़. सपा के गढ़ में सीेएम योगी के आने को लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। यहां सीएम योगी का आना भजापा सरकार और संगठन के लिए भी बेहद अहम है। क्यूंकि यही ऐसा जिला है जिस जिले में मोदी लहर के बावजूद भी भाजपा को दस में से सिर्फ एक सीट मिल पाई थी। जी हां आजमगढ़ मुलायम का संसदीय क्षेत्र है। और हमेशा से यह जिला सपा का गढ़ माना जाता रहा है। हालंकि इस इस बार हुए चुनाव में यहां बसपा ने भी बढ़िया प्रदर्शन किया था। पर भाजपा के लिए यह जिला लहर के बावजूद भी काफी कमजोर रहा। 



भाजपा यहां बेहतर करने की जरूरत
हालांकि यूपी चुनाव परिणाम आने के बाद ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने यहा साफ कर दिया था कि यह भाजपा के मिशन का हिस्सा होगी कि जिन सीटों पर भाजपा को हार का सामना करना पड़ा है भाजपा उन सीटों पर मजबूत होने का काम करेगी। इसलिए माना जा रहा है कि आजमगढ़ पर भी भाजपा कि पूरी निगाह है कि किसी तरह से इस जिले में भाजपा की मजबूत पैठ बनाई जा सके। जानकारों की मानें तो अब पूर्व सीएम अखिलेश यादव के बाद भाजपा कि नजर उनके पिता मुलायम सिंह यादव के संसदीय सीट पर टिकी है। 



2019 चुनाव के लिहाज से भी अहम है आजमगढ़
2014 लोकसभा चुनाव की बात करें तो पूर्वांचल में यही एक ऐसी सीट थी जहां पर भाजपा का कमल नहीं खिल सका था। इसके अलावा सभी सीटों पर भाजपा ने अपना परचम लहराया था। इस सीट पर मुलायम सिंह यादव ने भाजपा के उम्मीदवार रमाकांत यादव को बड़े अंतर से चुनाव हरा दिया था। इसलिए भाजपा कि नजर आजमगढ़ को लेकर बनी हुई है कि किसी तरह से इस जिले में भाजपा की मजबूत पकड़ बनाई जा सके। 



आजगढ़ को अपने दौरे में खास तरजीह देंगे सीएम
सीएम योगी अभी पदभार संभालने के बाद अपने जिले गोरखपुर में दो बार पहुंचे तो देवरिया जिले में शहीद के परिवार से मिलने गये साथ ही बस्ती जिले में भी सीएम ने एक सभा को संबोधित किया था। इसके अलावा आजमगढ़ पूर्वांचल कता ऐसा जिला होगा जहां सीएम योगी पहली बार पहुंच रहे है।

विकास कार्यक्रमों पर हुई चर्चा
बतादें कि शनिवार को मंडलायुक्त कार्यालय में  कानून व्यवस्था, कर-करेत्तर व राजस्व कार्यक्रमों के साथ ही विकास कार्यक्रमों के तहत शासन के विकास एजेण्डा बिन्दुओं, आईजीआरएस के लम्बित प्रकरण, प्रधानमन्त्री आवास योजना, राज्य पेंशन योजना सहित अन्य बिन्दुओं की प्रगति समीक्षा की गई। ताकि सीएम के सामने बेहतर रिपोर्ट दी जा सके। 


कई मामलों की समीक्षा करेंगे सीएम
मुख्यमन्त्री द्वारा 25 मई को की जाने वाली मण्डलीय समीक्षा बैठक में निर्धारित 31 एजेण्डा बिन्दुओं में कानून व्यवस्था की स्थिति, जघन्य अपराधों एवं सनसनीखेज घटनाओं के स्थल पर वरिष्ठ अधिकारियों का त्वरित भ्रमण सुनिश्चित कराने, तहसील दिवस की समीक्षा, जन समस्याओं का स्थानीय स्तर पर समाधार सुनिश्चित कराने, आपदा राहत का समय से भुगतान, विद्युत विभाग के विभिन्न बिन्दुओं, सड़कों को गड््ढामुक्त किये जाने, साफ सफाई, ओडीएफ की प्रगति, शिक्षा की स्थिति एवं अध्यापकों से उपस्थिति, स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति, पेयजल की उपलब्धता आदि सभी बिन्दुओं पर समीक्षा की जायेगी। अपर आयुक्त श्री त्रिपाठी ने सम्बन्धित मण्डलीय व जिला स्तरीय अधिकारियों से पूर्ण विवरण के साथ बैठक में समय से प्रतिभाग करने की अपेक्षा की है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned