scriptkishangarh and pushkar not include in smart city yozna | अजमेर ही बनेगा स्मार्ट...किशनगढ़ और पुष्कर नहीं शामिल | Patrika News

अजमेर ही बनेगा स्मार्ट...किशनगढ़ और पुष्कर नहीं शामिल

अजमेर नगर निगम सीमा में होंगे विकास कार्य। किशनगढ़ और पुष्कर में नहीं कामकाज।

जयपुर

Published: December 09, 2015 11:57:36 am

नगर निगम के महापौर धर्मेन्द्र गहलोत ने साफ किया है कि स्मार्ट सिटी योजना में केवल अजमेर शहर शामिल है। पुष्कर और किशनगढ़ को स्मार्ट सिटी योजना में शामिल नहीं किया गया है।

 स्मार्ट सिटी चैलेंज प्रतियोगिता में अजमेर प्रथम 20 स्थानों में शामिल होता है तो केवल अजमेर नगर निगम सीमा में ही स्मार्ट सिटी के तहत विकास कार्य कराए जाएंगे। यदि अजमेर स्मार्ट सिटी में शामिल नहीं भी होता है तो इंडो-यूएस बिजनेस काउंसिल सहित अन्य संस्थाओं ने अजमेर को सहयोग का आश्वासन दिया है।

 गहलोत ने बताया कि स्मार्ट सिटी को लेकर भ्रांतियां फैलने से लोगों की आशाएं बढ़ गई है। उन्होंने कहा कि बिना जानकारी के पहले स्मार्ट सिटी में किशनगढ़ और पुष्कर को शामिल कर और अजमेर विकास प्राधिकरण को नोडल एजेंसी मानते हुए कमेटियां गठन करने का काम शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी की गाइडलाइन में साफ है कि नगर निगम की सीमा से बाहर नहीं जाना है।

उन्होंने बताया कि स्मार्ट सिटी में पटेल मैदान से जेएलएन अस्पताल, सिविल लाइंस, सुभाष उद्यान, गौरव पथ से पुष्कर रोड़ क्षेत्र को शामिल किया है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी के लिए अजमेर की मजबूत पैरवी की गई है।

ठेलेवालों को हटाएंगे
गहलोत ने कहा कि अजमेर में नो-वेंडर जोन से ठेले वालों को हटाने के लिए अभियान चलेगा। शहर की सफाई व्यवस्था के प्रति निगम प्रशासन गंभीरता से काम कर रहा है। गंदगी की समस्या के समाधान के लिए ही एप 311 को लॉन्च किया है।

तालमेल का अभाव

गहलोत ने माना कि सरकारी महकमों के बीच समन्वय का अभाव है। अभी जो सड़कों की खुदाई की जा रही है वह अंडरग्राउंड विद्युत केबल बिछाने के लिए हो रही है। डिस्कॉम के काम के बाद सड़क की मरम्मत भी तुरंत कराने का प्रयास किया जाएगा।

वैकल्पिक स्टेशन जरूरी
गलोत ने कहा कि मदार या दौराई में वैकल्पिक रेलवे स्टेशन बेहद आवश्यक है। इसके अलावा स्टेशन की दूसरी निकासी तोपदड़ा की ओर से किए बिना स्टेशन रोड की यातायात समस्या का समाधान नहीं होगा। राज्य सरकार से इस संबंध में आग्रह किया है कि केन्द्र और राज्य सरकार मिलकर इस समस्या का समाधान करें। उन्होंने बताया कि स्टेशन के अंदर स्थित फुट ओवर ब्रिज को स्टेशन के बाहर के एफओबी से जोडऩे का कार्य जल्द होगा।


250 मीटर की परिधि तय करेंगे

महापौर गहलोत ने कहा कि आनासागर में नो-कंस्ट्रक्शन जोन को एफटीएल तय किया गया है। उन्होंने कहा कि झील से 250 मीटर की परिधि तय करने के लिए राजस्थान उच्च न्यायालय के 2013 और 2015 के निर्णय के आधार पर काम करेंगे। झील की परिधि से ज्यादा क्षेत्र बाधित न हो इसका प्रयास किया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Coronavirus: स्वास्थ्य मंत्रालय इन 6 राज्यों में कोविड स्थिति पर चिंतित, यहां तेजी से फैल रहा संक्रमणGhana: विनाशकारी विस्फोट में 17 लोगों की मौत, 59 घायलभारत ने जानवरों के लिए विकसित किया पहला कोरोना वैक्सीन,अब शेर और तेंदुए पर ट्रायल की योजना50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीअखिलेश यादव के कई राज सिद्धार्थनाथ सिंह ने खोले, सुन कर चौंक जाएंगेबड़ी खबर- सरकार ने माफ किया पुराना बिल, अब महंगी होगी बिजलीCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कतयूपी विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण की 55 विधानसभा सीटों के लिए आज से होगा नामांकन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.