10 साल पहले 60 लाख के मकान में रहा करती थी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार की पत्नी 

Awesh Tiwary

Publish: Jun, 19 2017 08:34:00 (IST)

Varanasi, Uttar Pradesh, India
10 साल पहले 60 लाख के मकान में रहा करती थी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार की पत्नी 

10 साल पहले 60 लाख के मकान में रहा करती थी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार की पत्नी 

पत्रिका ब्रेकिंग 

आवेश तिवारी 
वाराणसी। भारतीय जनता पार्टी ने देश के भावी राष्ट्रपति के लिए अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया है। कानपुर देहात  के रहने वाले वरिष्ठ भाजपा नेता और बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया गया है। वर्ष 1994 से 2006 तक सांसद रहे रामनाथ कोविंद को लेकर जानकारी मिली है कि वर्ष 2007 में ही रामनाथ कोविंद करोड़पति हो गए थे। उस वर्ष रामनाथ कोविंद ने चुनाव आयोग को जो हलफनामा दाखिल किया था उससे पता चलता है कि उस वक्त उनकी पत्नी के पास 60 लाख रूपए का मकान था ।वहीँ खुद रामनाथ कोविंद के अपने नाम से 20 और 14 लाख के दो मकान थे। उस दौरान रामनाथ कोविंद की कुल चल अचल सम्पत्तियों का मूल्य लगभग 1 करोड़ 6 लाख रूपए था।

पिछड़ी महिलाओं के आरक्षण के विरोधी रहे हैं रामनाथ 

रामनाथ कोविंद पिछड़ी महिला आरक्षण के घोर विरोधी रहे हैं। गौरतलब है कि  वर्ष 2010 में जब केंद्र में यूपीए की सरकार थी  भाजपा के ओबीसी नेता गोपीनाथ मुंडे ने महिला आरक्षण में ओबीसी महिलाओं को अलग आरक्षण देने की मांग उठाने की बात कही थी। कोविंद उस समय भाजपा के प्रवक्ता थे। उस वक्त  कोविंद ने ओबीसी महिला आरक्षण पर साफ कहा था कि “हम आरक्षण में आरक्षण को स्वीकार नहीं करेंगे। 33 फीसदी महिला आरक्षण के भीतर अलग से आरक्षण को स्वीकार नहीं किया जाएगा।”कोविंद ने उस वक्त कहा था, “हमारी पार्टी का रूख स्पष्ट है। हम महिला आरक्षण विधेयक को मौजूदा रूप में ही पारित करवाना चाहते हैं।” गौरतलब है कि संसद में महिला आरक्षण बिल  9 मार्च 2010 को पारित किया गया।

ऐसे हारे थे कोविंद विधानसभा चुनाव 

दस सालों तक राज्यसभा सांसद रहने के बाद रामनाथ कोविंद ने वर्ष 2007 के विधानसभा चुनाव में रामनाथ भाजपा के टिकट पर भोगनीपुर विधानसभा से चुनाव लड़ा था । इस चुनाव में उन्हें  करारी हार का सामना करना पड़ा था ।वो तीसरे नंबर पर रहे थे। उक्त चुनाव में बसपा के रघु नाथ प्रसाद को जीत हासिल हुई थी जबकि सपा प्रत्याशी अरुण कुमारी दूसरे नंबर पर रही थी ,उस दौरान रामनाथ कोविंद को कुल 26,550 वोट मिले थे। जबकि विजयी हुए बसपा प्रत्याशी ने कुल 36,829 मत प्राप्त किये थे गौरतलब है कि वर्ष 2007 में प्रदेश में मायावती की सरकार बनी थी। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned