डा.बसंल हत्याकांड के विरोध में आईएमए चिकित्सकों ने किया हड़ताल, सीबीआई जांच की मांग

Patrika Varanasi
डा.बसंल हत्याकांड के विरोध में आईएमए चिकित्सकों ने किया हड़ताल, सीबीआई जांच की मांग

इमरजेंसी छोड़ कर सभी सेवा ठप की, जानिए क्या है कहानी

वारणसी. इलाहाबाद के प्रसिद्ध चिकित्सक डा.बंसल हत्याकांड की आग से बनारस भी सुलगने लगा है। आईएमए के बैनर तले चिकित्सकों ने घटना के प्रति आक्रोश दिखाते हुए इमरजेंसी छोड़ कर एक दिन की सांकेतिक हड़ताल पर चले गये। आईएमए में हुई सभा में चिकित्सकों ने कहा कि जल्द से जल्द चिकित्सकों के हत्यारों को पकड़ा जाये और सम्पूर्ण घटना की सीबीआई जांच करायी जाये।
चिकित्सकों ने कहा कि एक तरफ तो हमें सुरक्षा देने के नाम पर एक्ट बनाया जाता है तो दूसरी तरफ लगातार चिकित्सकों पर हमले और तोडफ़ोड़ की वारदात होती रहती है। स्थिति इतनी खराब हो चुकी है कि डा.बंसल जैसे प्रसिद्ध चिकित्सक की नृशंस ढंग से हत्या की है उससे कानून व्यवस्था पर गंभीर सवाल उठने लगे हैं। बदमाश हत्या करके फरार भी हो जाते हैं और पुलिस उन्हें अभी तक पकड़ नहीं पाती है। चिकित्सकों ने कहा कि  जिस तरह से असुरक्षा का माहौल बन गया है उसमे चिकित्सकों का काम करना कठिन हो गया है। चिकित्सकों ने गृह मंत्रालय से घटना की सीबीआई जांच की मांग की है। आईएमए में हुई सभा की अध्यक्ष डा.अनिल ओहरी, डा.कार्तिकेय सिंह, डा.पीके तिवारी, डा.भानू शंकर पाण्डेय, डा.अशोक कुमार राय, डा.मनीषा सिंह, डा.आरके ओझा आदि चिकित्सक उपस्थित थे।
doctor


मरीज हुए परेशान नहीं मिली राहत
चिकित्सकों के एक दिन के सांकेतिक हड़ताल पर जाने के चलते चिकित्सकीय व्यवस्था प्रभावित हो गयी। चिकित्सकों ने ओपीडी से दूरी बनाये रखी। चिकित्सकों के आंदोलन के चलते मरीजों को बिना इलाज के ही बैरंग लौटना पड़ा।


इलाहाबाद में हुई थी डा.बसंल की हत्या
इलाहाबाद के जीवन ज्योति अस्पताल के मालिक डा.बसंल की हत्या अज्ञात बदमाशों ने 12 दिसम्बर को गोली मार कर कर दी थी। डा.बंसल अपने केबिन में बैठे थे और उसी दौरान बदमाशों ने घटना को अंजाम दिया था इसके बाद से बदमाश फरार हो गये। पुलिस ने जमीनी विवाद एवं अन्य मामलों को ध्यान में रख कर जांच शुरू की है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned