जनता को नहीं मिल रही राहत, बनारस के अधिकतर एटीएम बंद

Patrika Varanasi
 जनता को नहीं मिल रही राहत, बनारस के अधिकतर एटीएम बंद

'हाथ को आया पर मुंह न लगा पाया' वाली जनता की हालत, सरकार के वादे हो रहे फेल

वाराणसी. पीएम नरेन्द्र मोदी के नोटबंदी फैसले के जनता की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है। नोटबंदी के बाद नवंबर माह तो किसी तहर बीत गया और अगर यही हाल रहा तो जनता के लिए दिसंबर महीना बहुत मुश्किलों से भरा होगा। पिछले महीने के आठ तारीख को नोटबंदी का फैसला आने से अधिकतर जनता ने अपने महीने भर के राशन आदि का इंतजाम पहले ही कर लिया था लेकिन दिसंबर में तो शुरू से ही जनता को कैश की परेशानी से जुझना पड़ रहा है।


नोटबंदी के बाद से जनता को राहत पहुंचाने के मोदी सरकार के वादे फेल हो रहे हैं। पीएम मोदी की काशी में अधिकतर एटीएम बंद पड़े हैं। जहां एटीएम खुला है वहां इतनी भीड़ है कि घंटों लाइन में लगने के बाद भी पैसा मिल पायेगा इसकी कोई गारंटी नहीं है। 


शहर में बंद पड़े एटीएम का कारण कुछ बैंक मैनेजर नकद की किल्लत मान रहे हैं तो कुछ इसके लिए 100 रुपये के नोट को बता रहे हैं। उनका कहना है कि 100 के नोट के कारण एटीएम में अधिक पैसे नहीं डाले जा रहे हैं और जो डाले जाते हैं वह जल्द ही खत्म हो जाते हैं। 



Closed ATM























बंद एटीएम

जनता की हालत 'हाथ को आया पर मुंह न लगा पाया' वाली हो गयी है। लोगों के एकाउंट में पैसे तो हैं और सैलरी भी आ गयी है लेकिन वह उसे अपने जरूरत के हिसाब से निकाल नहीं सकते हैं, जिससे उनकी परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही है। शहर के कुछ बैंकों की शाखाओं में सैलरी आने के बाद अपने एकाउंट से 24 हजार मिल रहें तो वहीं कुछ बैंकों में सिर्फ 10 हजार रुपये ही मिल रहे हैं। 


Closed ATM



सरकारी नौकरी पेशा संतोष कुमार ने बताया कि एक दिसंबर को दोपहर बाद उनकी सैलरी आयी, जिसके बाद वह सीधे बैंक पैसा निकालने पहुंचे लेकिन देर होने के कारण उनको पैसा नहीं मिल पाया। इसके बाद संतोष कुमार एक फिर दो दिसंबर को बैंक की लाइन में पैसे निकालने के लिए खड़े रहे। उनका कहना है कि नौकरी के कारण दिन में समय मिलना मुश्किल है और अगर आज भी पैसा नहीं मिला तो परेशानी बढ़ जायेगी। 


Closed ATM






















वहीं संदीप ने कहा कि उनका खाता दूसरे शहर के शाखा है, जिसके कारण उनको सिर्फ दो हजार रुपये ही मिल पाये। उन्होंने कहा कि दो हजार रुपये में क्या होगा और नौकरी छोड़कर रोज-रोज एटीएम या बैंक में लाइन भी नहीं लगा सकता। 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned