सावन का दूसरा सोमवारः बाबा विश्वनाथ की मंगला आरती में बिन टिकट नहीं जा पाए VVIP

Varanasi, Uttar Pradesh, India
   सावन का दूसरा सोमवारः बाबा विश्वनाथ की मंगला आरती में बिन टिकट नहीं जा पाए VVIP

विधान परिषद में मामला उठने के बाद जिला प्रशासन हुआ सख्त, ढुंढिराज गणेश मार्ग पर हुई वीडियोग्राफी।

वाराणसी. कई सालों के बाद इस बार सावन के दूसरे सोमवार को बाबा विश्वनाथ की मंगला आरती में टिकट लेने वाले दर्शनार्थियों को मिला प्रवेश। विशिष्ट व अति विशिष्ट लोगों को भी टिकट खरीद कर ही जाना पड़ा। दिखी जिला प्रशासन की सख्ती। मंगला आरती के लिए टिकट लेने वालों को गेट नंबर एक (ढुंढिराज गणेश मार्ग) से मंदिर परिसर में प्रवेश मिला। उस दौरान प्रशासन ने वीडियोग्राफी भी कराई। सावन के दूसरे सोमवार को मंगला आरती के लिए 246 लोगों ने टिकट खरीदे थे जिसके सापेक्ष 245 टिकटार्थियों ने मंगला आरती में भाग लिया। इस बीच दूसरे सोमवार को कांवरियों की कतार तो दिखी पर आम दर्शनार्थियों की तादाद रही कम। फिर भी दिन के 10 बजे तक 65 हजार दर्शनार्थियों ने बाबा का दर्शन-पूजन किया। बाबा विश्वनाथ के अलवा काशी के अन्य शिवालयों में रही श्रद्धालुओं की भीड़। श्रद्धालुओं की सरुक्षा के लिए चप्पे चप्पे तैनात रहे सुरक्षा कमांडो। पुलिस कर्मी।










बता दें कि सपा नेता व पूर्व मंत्री शतरुद्ध प्रकाश ने विधान परिषद में पिछले साल सावन के पहले सोमवार को बाबा विश्वनाथ के मंगला आरती में टिकट लेने वालों की जगह प्रशासनिक अफसरों और वीआईपी के दर्शन को तवज्जो देने का मामला उठाया था। इसे शासन ने गंभीरता से लिया। यहां यह भी बता दें कि इस बार भी सावन के पहले सोमवार को मंगला आरती के लिए टिकट लेने वालों की जगह वीआईपी के नाम पर प्रशासनिक अफसरों ने ही बाबा के दरबार में कब्जा जमा लिया था। इस खबर को सबसे पहले पत्रिका ने ही ब्रेक किया था। ऐसे में पत्रिका की खबर और शासन के हस्तक्षेप के बाद कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण ने इसे गंभीरता से लिया। उन्होंने डीएम योगेश्वर राम मिश्र से पूरे मामले की जांच का निर्देश दिया। वीडियो फुटेज तक मंगा लिया था। उसके बाद से ही जिला प्रशासन हरकत में आया जिसका नतीजा रहा कि सावन के दूसरे सोमवार को मंगला आरती के लिए टिकट लेने वालों को तवज्जो मिली। ऐसे सभी लोगों ने विधिवत दर्शन पूजन किया।



इतना ही नहीं मंगला आरती के दौरान टिकटार्थियों को किसी भी समस्या का सामना ना करना पड़े इसके लिए कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण ने सोमवार को मंगला आरती के दौरान दो अतिरिक्त मजिस्ट्रेट एवं पुलिस अधिकारियों की तैनाती करा दी थी। ढुंढ़िराज प्रवेश द्वार से मंगला आरती के लिए मात्र एक रास्ता तय किया गया था और वहीं से टिकट लेने वालों को प्रवेश दियाया गया। ढुंढिराज प्रवेश द्वार के पास सहित मंगला आरती में भाग लेने वाले लोगों का मंदिर में प्रवेश से 10 मिनट पूर्व एवं आरती के बाद निकलते समय का विशेष वीडियो फोटोग्राफी कराई गई। इसके लिए कैमरा युक्त कर्मचारी की तैनाती की गई थी।




queue of Kanwaris for Shrikashi Vishwanath dharsha


मंगला आरती का मामला तो विधानपरिषद में उठने के बाद सुलझा लिया गया। लेकिन न सड़कों की हालत सुधरी न सीवर समस्या। आलम यह रहा कि सीवर समस्या के चलते देवनाथ पुरा, पातालेश्वर, सीमन चौहट्टा तथा बंगाली टोला क्षेत्र में लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ी। बता दें कि पिछले कई दिनों से यहां सीवर का पानी बहने से लोगों में काफी गुस्सा है। सोनारपुरा क्षेत्र में सावन के पहले सोमवार को भी दर्शनार्थियों को सड़क पर बहते सीवर के पानी से गुजरना पड़ा था।






पातालेश्वर स्थापित पुष्पदंत स्वर महादेव को जल चढ़ाने के लिए खासा कठिनाई का सामना करना पड़ा। ऐसे में सीवर समस्या से त्रस्त शिव भक्तों और आम नागरिकों ने प्रदर्शन भी किया। उनका कहना था कि पहले भी कई बार इन जगहों का हवाला देते हुए नगर निगम के पास क्षेत्रीय लोगों ने दरखास्त दिया था। लेकिन निगम प्रशासन की ओर से कोई पहल न होने से लोग खासे नाराज रहे। बता दें कि यहां हजारों वर्ष पुराने पुष्पदंत स्वर मंदिर में दूर-दूर से लोग सावन के सोमवार के अवसर पर जल चढ़ाते हैं।

Sewer water flows on the way to Shivamandir

इस बीच इस दूसरे सोमवार को बाबा विश्वनाथ दरबार के अलावा महामृत्युंजय महादेव, गौरी केदारेश्वर महादेव, सारनाथ स्थित सारंगनाथ महादेव, शूलटंकेश्वर महादेव, तिल भांडेश्वर महादेव, रामेश्वर महादेव, बैजनत्था महादेव, कर्दमेश्वर महादेव, बीएचयू स्थित विश्वनाथ मंदिर सहित हर छोटे-बड़े शिवालयों में सुबह से ही भक्तों की कतार लग गई थी। भक्तों ने भोलेनाथ को जलाभिषेक, दुग्द्धाभिषेक के साथ बिल्व पत्र, भांग-धतूरा, मदार की माला अर्पित की। बाबा की नगरी के लोगों ने आज के दिन व्रत रखा। घरों और शिवालयों में रुद्राभिषेक किया गया। पूरी नगर शिवभक्ति में लीन नजर आई।






Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned