कलेक्शन एजेंट से दो लाख रुपए लूटकर दोस्तों में उड़ा रहा था बदमाश, पुलिस ने दबोचा

Highlights

- कलेक्शन एजेंट के साथ हुई 1.91 लाख की लूट का 24 घंटे में खुलासा

- आरोपी ने 17 हजार 7 सौ रुपए शराब पीने और दोस्तों में उड़ाए

- पहले भी आधा दर्जन से अधिक लूट की वारदात को अंजाम दे चुका है आरोपी

By: lokesh verma

Published: 07 Oct 2020, 10:23 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा. सेक्टर-20 थाना पुलिस ने पांच अक्टूबर को सेक्टर-27 में कलेक्शन एजेंट से हुई 1.91 लाख रुपए की लूट का खुलासा करते हुए आरोपी को 24 घंटे के भीतर सेक्टर-28 से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से लूट के एक लाख 73 हजार 300 रुपए बरामद किए हैं। जांच में सामने आया है कि आरोपी पूर्व में भी लूट की आधा दर्जन से अधिक वारदातों को अंजाम दे चुका है।

यह भी पढ़ें- हाथरस कांड: मुख्य आरोपी के पिता का आरोप, प्रेम प्रसंग में हुई युवती की हत्या, मामले को दिया नया एंगल

एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि मूलरूप से अलीगढ़ निवासी अमित सलारपुर खादर में रहता है। वह सेक्टर-19 स्थित एक टेलीकॉम कंपनी के लिए काम करने वाली साईं एंटरप्राइजेज कंपनी में कलेक्शन एजेंट है। वह सोमवार शाम कलेक्शन करने के बाद कंपनी लौट रहा था। इसी बीच वह सेक्टर-27 स्थित संजय टेलीकॉम के नाम की दुकान पर अपने एक पूर्व परिचित से बात करने लगा। इसी दौरान आरोपी अमित का रुपए से भरा बैग लेकर फरार हो गया।

एडीसीपी ने बताया पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। जांच के दौरान आरोपी कई जगह सीसीटीवी फुटेज में नजर आ गया। इसके तहत पुलिस ने आरोपी को शाम करीब चार बजे सेक्टर-28 तिराहे के पास से गिरफ्तार किया। आरोपी की पहचान रुकशाद उर्फ गुड्डू के रूप में हुई। पुलिस ने आरोपी से लूट के 1 लाख 73 हजार 300 रुपए बरामद किए हैं। आरोपी ने 17 हजार 7 सौ रुपए शराब पीने में खर्च किए और कुछ पैसे दोस्तों को भी दिए। एडीसीपी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ मेरठ, गाजियाबाद और नोएडा में लूट और गैंगस्टर एक्ट के छह से ज्यादा केस दर्ज हैं। पुलिस आरोपी से अन्य मामलों में भी पूछताछ कर रही है।

यह भी पढ़ें- व्यापारी को गोलियों से भूनने वाले को पुलिस ने किया 'शूट', 50 हज़ार का था इनाम

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned