Coronavirus: HCL के कर्मचारी में कोरोना वायरस की पुष्टि, विदेश यात्रा से लौटा था पीड़ित

Highlights
- नोएडा में कोरोना वायरस पीड़ितों की संख्या बढ़ी
- नोएडा स्थित एचसीएल टेक्नोलाॅजी का कर्मचारी कोरोना पीड़ित मिला
- अफ्रीका से लौटे एक परिवार के तीन लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे

By: lokesh verma

Published: 19 Mar 2020, 12:46 PM IST

नोएडा. दिल्ली से सटे नोएडा में भी कोरोना वायरस (Coronavirus) को प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। ताजा मामला नोएडा स्थित एचसीएल टेक्नोलाॅजी (HCL Technologies) का है, जहां एक और कोरोना पीड़ित (Corona Positive) मिला है। कंपनी ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया है कि उनके नोएडा कार्यालय में कार्यरत एक कर्मचारी कोरोना पाॅजिटिव पाया गया है। बताया जा रहा है कि पीड़ित हाल ही में विदेश यात्रा से लौटा है।

यह भी पढ़ें- CoronaVirus: अफ्रीका से लौटे परिवार ने पेश की मिसाल, संक्रमण के शक पर खुद क्वॉरेंटाइन वार्ड में भर्ती

बता दें कि जिला प्रशासन ने बुधवार को नोएडा में चौथा कोरोना पीड़ित की पुष्टि होने के बाद धारा-144 लागू कर दी थी। इसके साथ ही प्रशासन ने सार्वजनिक आयोजनों पर भी रोक लगा दी है। वहीं गुरुवार को नोएडा स्थित एचसीएल टेक्नोलाॅजी के कार्यालय ने एक कर्मचारी को कोराेना वायरस पाॅजिटिव होने की पुष्टि हुई है। बताया जा रहा है कि यह वही मरीज है, जिसकी बुधवार को जिला प्रशासन ने पुष्टि की थी। कर्मचारी के कोरोना पीड़ित होने की पुष्टि के साथ ही सभी कर्मचारियों को अलर्ट कर दिया गया है। सभी कर्मचारियों को सावधानी बरतने की सलाह दी जा रही है। प्रबंधन का कहना है कि हमारा कार्यालय सभी सरकारी और स्वास्थ्य सलाह का पालन कर रहा है।

फ्रांस से लौटा परिवार क्वॉरेंटाइन वार्ड में

वहीं, ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) की गौर सिटी में अफ्रीका से लौटे एक परिवार के तीन लोगों ने जागरुकता की मिसाल पेश करते हुए कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका जाहिर की है। इस परिवार में दंपती समेत एक छोटा बच्चा भी है। बताया जा रहा है कि बुधवार रात परिवार ने जागरुकता का परिचय देते हुए खुद ही स्वास्थ्य विभाग की टीम को फोन करते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण की आशंका व्यक्त की थी। इसके बाद मौके पर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम परिवार को अपने साथ ले आई। इसके बाद परिवार के तीनों सदस्यों के सैंपल लेकर जांच के लिए लैब भेज दिए गए हैं। वहीं एहतियात के तौर पर तीनों को क्वॉरेंटाइन वार्ड में 14 दिन के लिए रखा गया है।

यह भी पढ़ें- अखबार, दूध के पैकेट, डोरबेल... इन सब चीजों से नहीं फैलता कोरोना वायरस, जानिये क्यों

lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned