बिल्डर्स ने नहीं मानी NGT की गाइडलाइन, अब देना होगा 98 लाख का जुर्माना

7 दिनो में देना होगा जुर्माना, 17 बिल्डरों पर 5-5 लाख का लगा जुर्माना

By: pallavi kumari

Updated: 10 Nov 2017, 03:02 PM IST

नोएडा. बढ़ते प्रदूषण को लेकर एनजीटी के आदेशों का पालन कराने के लिए प्राधिकरण सख्त है। इसकी बानगी प्राधिकरण द्वारा नितरंतर चलाए जा रहे अभियान से स्पष्ट है। महज दो दिन के अंदर प्राधिकरण ने बिल्डर समेत छोटे बड़े कंस्ट्रक्शन से बढ रहे प्रदूषण को लेकर संस्थानों के मालिकों पर 97 लाख 72 हजार का जुर्माना लगाया है। यह जुर्माना सात दिन के अंदर एनजीटी के खाते में जमा करना होगा।

यह भी पढ़ें- धुंध का फायदा उठाकर शख्स अकेली नर्स के साथ करने लगा ऐसा काम

 

ngt

सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित कमिटी ईपीसीए के चेयरमैन भूरेलाल के दौरे के निर्देशों के बाद प्राधिकरण के सभी वर्क सर्किल के अधिकारी अपने क्षेत्र में कंस्ट्रक्शन को लेकर निरिक्षण कर रहे है। खुले में निर्माण सामग्री, पानी का छिड़काव नहीं करने, निर्माण कार्य के दौरान एनजीटी के नियमों की अवहैलना करने का निरिक्षण किया जा रहा था। जिसके बाद दो दिनों के अंदर प्राधिकरण ने कुल 97 लाख 72 हजार का जुर्माना लगाया है।

यह भी पढ़ें- पुलिस का आई कार्ड दिखाकर महिलाआें के साथ ये लोग करते हैं एेसी हरकत

 

 

ngt

बताते चले कि इसमें 51 संस्थान मालिकों पर आठ नवंबर को कार्यवाही करते हुए 62 लाख 37 हजार का जुर्माना लगाया गया। वहीं, गुरुवार को प्राधिकरण ने 45 संस्थान मालिकों पर कार्यवाही करते हुए कुल 35 लाख 35 हजार का जुर्माना लगाया है। इससमे 17 ऐसे बिल्डर है जिन पर 5-5 लाख का जुर्माना लगाया गया है।

आपको बतादें कि प्रदूषण की बढ़ते लेवल को देखते हुए NGT काफी सख्त रैवाया बरत रही है। प्रदूषण की वजह से प्रदेश में लोगों का जीना बेहाल हो गया है।

ngt

खास बात यह है कि सभी लोगों को सात दिन के अंदर एनजीटी के खाते में जुर्माने की रकम जमा करनी होगी। यही नहीं इन सभी स्थानों पर चल रहे कंस्ट्रक्शन कार्य पर रोक लगा दी गई है। जुर्माने की रकम जमा नहीं करने पर प्राधिकरण द्वारा सख्त कार्यवाही की जाएगी।

Show More
pallavi kumari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned