आरुषि-हेमराज हत्याकांड: एक बेटी की रहेगी कमी, लेकिन नौ साल बाद दूसरे के लौटने की खुशी में जलाएंगे दिया- आरुषि के नाना

pallavi kumari

Publish: Oct, 13 2017 07:24:30 (IST)

Noida, Uttar Pradesh, India
आरुषि-हेमराज हत्याकांड: एक बेटी की रहेगी कमी, लेकिन नौ साल बाद दूसरे के लौटने की खुशी में जलाएंगे दिया- आरुषि के नाना

आरुषि के नाना ने कहा कि पिछले नौ सालों से हमने कोई त्योहार नहीं मनाया। लेकिन, बेटी के आने की खुशी में इस बार दीपवाली मनाएंगे।

नोएडा। साढ़े नौ साल तक नूपुर और राजेश के साथ पूरे परिवार ने सजा काटी। इस दौरान हमने कोई त्यौहार नहीं मनाया। देर से ही सही लेकिन न्यायालय ने हमारे परिवार के साथ न्याय किया। एक बेटी की हमेशा कमी रहेगी, लेकिन नौ साल बाद दूसरे के लौटने की खुशी में इस बार दिया जलाएंगे और धूमधाम से पूरा परिवार दीपावली भी मनाएगा। बस कमी आरुषि की रहेगी। इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा तलवार दंपति को बरी किए जाने के बाद मीडिया से बात करते हुए आरुषि के नाना रिटायर्ड ग्रुप कैप्टन बीजी चिटनेस ने यह बातें कही। उन्होंने कहा कि हमारे परिवार को आरुषि की मौत का शोक मनाने का समय तक नहीं मिला। एक मां-बाप को बेकसूर साबित करने के लिए नौ साल लग गए। नोएडा में नहीं रहेंगे तलवार दंपति...

पत्रकारों ने जब बीजी चिटनेस से पूछा कि जेल से रिहा होने के बाद क्या तलवार दंपति नोएडा वाले प्लैट में ही रहेंगे? जवाब में चिटनेस ने कहा, ' राजेश और नूपुर नोएडा में नहीं रहेंगे। इतने संघर्ष के बाद आरुषि के माता-पिता दोबारा नोएडा नहीं आना चाहते। उनका एक मकान दिल्ली के हौज खास में है। वे वहीं पर रहेंगे। उनका नोएडा का मकान अभी किराए पर है। इसे रखना है या बेचना है। इसका निर्णय भी राजेश और नूपुर ही लेंगे। पढ़िए कुछ अन्य सवालों पर आरुषि के नाना का जवाब...

सवाल: एक बेटी गई, एक वापस आ गई, कैसा महसूस रहे हैं आप?

जवाब- आरुषि के साथ-साथ हम अपनी बेटी नूपुर और राजेश को भी खो चुके थे। हमें एक के बाद एक सदमे लगे। परिवार को संभलने तक का समय नहीं मिला। पूरा परिवार उजड़ सा गया। लेकिन, अब एक बेटी वापस आ रही है। आरुषि की कमी को पूरा नहीं किया जा सकता। लेकिन, परिवार का प्रयास रहेगा कि नूपुर और राजेश को कभी इस बात की कमी महसूस न होने दी जाए।

सवाल- पुलिस और सीबीआर्इ के खिलाफ कोर्इ एक्शन लेंगे क्या?

जवाब: नोएडा पुलिस और सीबीआई दोनों ने ही नूपुर और राजेश तलवार को दोषी माना था। आरुषि की मौत के बाद परिवार को उसका शोक मनाने तक का समय नहीं मिला। हालांकि, उन्होंने जो भी किया वो उनका काम था। हमारा कोई लीगल राइट भी नहीं बनता कि कोई एक्शन लिया जाए। फिलहाल, पहले हमारे बच्चे घर वापस आ जाए, इसके बाद ही कुछ सोचा जाएगा।

सवाल- आरुषि का कातिल कौन है और उसे कब इंसाफ मिलेगा?

जवाब- यह सवाल सुनते ही आरुषि के नाना भावुक हो गए। हालांकि, खुद को संभालते हुए उन्होंने कहा कि जांच एजेंसियों की सुई केवल नूपुर और राजेश पर ही टिकी रही। लेकिन, असली कातिल कौन है इसके बारे में अब भी किसी को नहीं पता। हू किल्ड आरुषि यह जानना और उसका पकड़ा जाना बेहद जरूरी है। जब तक उसका कातिल पकड़ा नहीं जाता, आरुषि का इंसाफ अधूरा ही रहेगा। हम भी चैन से सो नहीं पाएंगे।

सवाल- कब से नहीं मना कोई त्यौहार, क्या इस बार मनाएंगे दीपावली?

जवाब- आरुषि की मौत के बाद हमे संभलने का वक्त भी नहीं मिला था कि पुलिस और सीबीआर्इ ने नूपुर और राजेश तलवार पर ही हत्या के आरोप लगा दिए। पिछले साढ़े नौ सालों से घर में कोर्इ त्यौहार नहीं मनाया गया। बीते साढ़े तीन हजार दिन बड़ी मुश्किल से कटे हैं। अभी भी एक बेटी आरुषि की कमी बनी रहेगी, लेकिन बेटी नुपूर और दामाद की आने की खुशी में पूरा परिवार इस बार दीपावली मनाएगा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned