DRDO साइंटिस्ट के अपहरण में शामिल सुनीता के सियासी कनेक्शन से सियासी हलकों में मची हलचल, एक आरोपी और गिरफ्तार

Highlights

- फेसबुक वॉल पर हैं नेताओं और बॉलीवुड हीरो के साथ फोटो

- सोसाइटी घर से अगवा कर साइंटिस्ट होटल तक लाने वाला चौथा आरोपी गिरफ्तार

- जिला अध्यक्ष मनोज गुप्ता कहा वह पार्टी का नाम खराब कर रही है सुनीता केस करूंगा,

- मनवीर गुर्जर के भाई ने कहा उनके परिवार का सुनीता के साथ कोई सीधा संबंध नहीं है।

By: Rahul Chauhan

Published: 30 Sep 2020, 11:18 AM IST

नोएडा। सेक्टर-77 में रहने वाले रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) में तैनात साइंटिस्ट को हनीट्रैप में फंसाकर अगवा करने के मामले में गिरफ्तार सुनीता गुर्जर के भाजपा नेताओं के साथ संबंधों को लेकर सियासी बवाल मच गया है। सुनीता के फेसबुक वॉल पर बॉलीवुड एक्टर सलमान खान और बीजेपी के स्थानीय सांसद महेश शर्मा के साथ भी फोटो अपलोड की गई है। इससे सुनीता के हाई-प्रोफाइल कनेक्शन का पता चलता है। सुनीता ने खुद को बिग बॉस-10 विनर मनवीर गुर्जर का रिश्तेदार बताया था।

दरअसल आगाहपुर गांव में बबली के नाम से मशहूर सुनीता गुर्जर ने दावा किया था कि वह बीजेपी के साथ जुड़ी हुई है। उसने खुद को पार्टी के महाराणा प्रताप मंडल का अध्यक्ष बताया था। वहीं बीजेपी के जिला अध्यक्ष मनोज गुप्ता का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी के बहुत सारे सदस्य हैं। उस महिला ने अपने को महिला मंडल अध्यक्ष महाराणा प्रताप मंडल लिखा। जहाँ वह रहती है, वह अटल बिहारी बाजपेई मंडल कहलाता है। अगर उसने ऐसा बयान दिया है तो पार्टी की तरफ से मैं उनके ऊपर केस करूंगा, क्योंकि वह पार्टी का नाम खराब कर रही है। बीजेपी के स्थानीय सासद डॉ. महेश शर्मा के साथ सुनीता ने फेसबुक पर एक फोटो अपलोड की है। उस बारे मनोज गुप्ता का कहना कि जहां तक फोटो की बात है हमारे सांसद हमारे विधायक सुबह से शाम तक इतने सारे लोगों के साथ फोटो खिंचवाते हैं।

दूसरी ओर पुलिस का कहना है कि सुनीता के पास से दो अलग-अलग नाम के पैन कार्ड मिले हैं। सुनीता गुर्जर कई इंटरव्यू भी दे चुकी है, जिसमें उसने खुद को मनवीर गुर्जर की भाभी बताया था। एक इंटरव्यू में सुनीता ने कहा था कि लोग उसे मनवीर गुर्जर की भाभी के रूप में जानते हैं। मनवीर गुर्जर के छोटे भाई ने साफ किया कि उनका परिवार सुनीता को सिर्फ इसलिए जानता है, क्योंकि वह उन्हीं के गांव से ताल्लुक रखती है। उसने बिग बॉस में जाने के लिए उनके परिवार से विनती की थी। उनके पास शो की 20 टिकट थी। एक टिकट उसे भी दे दी। उनके परिवार का सुनीता के साथ कोई सीधा संबंध नहीं है।

बता दें कि डीआरडीओ के साइंटिस्ट को बंधक बना फिरौती वसूलने के साजिश में पांच लोगों का नाम सामने आया है। पुलिस ने इस मामले में अब तक सुनीता गुर्जर, रिंकू, राकेश, को कल ही गिरफ्तार कर लिया था । आज दीपक को गिरफ्तार किया गया है, जबकि आदित्य अभी फरार है। एडीजीपी रणविजय सिंह का कहना है कि आज जिस आरोपी दीपक को गिरफ्तार किया गया है, उसका रोल था कि उसने सोसाइटी घर से अगवा कर साइंटिस्ट सैक्टर 41 स्थित होटल तक लाया था। जहां उसे बंधक बना कर रखा गया था। तथाकथित बीजेपी नेता सुनीता गुर्जर के बारे में एडीसीपी इनका कहना है जब हमने उसे गिरफ्तार किया था तब इसके बारे में कोई जानकारी नहीं थी। वैसे भी हमारे लिए वह ईविडेंस इंपॉर्टेंट होते हैं जो हमारे इन्वेस्टिगेशन में काम आते हैं।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned