उत्‍तर प्रदेश के इन शहरों में मेट्रो चलाएगा अडानी ग्रुप

लखनऊ में होने वाली इंवेस्टर्स समिट के लिए आई थी अडानी ग्रुप के प्रतिनिधियों की टीम

By: sharad asthana

Updated: 08 Feb 2018, 12:26 PM IST

नोएडा। उत्‍तर प्रदेश के मेरठ शहर में चलने वाली मेट्रो में बड़े औद्योगिक ग्रुप द्वारा निवेश के संकेत मिले हैं। इतना ही इस ग्रुप ने उत्‍तर प्रदेश के आगरा और कानपुर मेट्रो के संचालन में भी निवेश के संकेत दिए हैं। इसकी संभावनाएं तब उजागर हुईं जब अडानी ग्रुप के प्रतिनिधियों की एक टीम पिछले गुरुवार को एमडीए पहुंची। ग्रुप के प्रतिनिधियों ने शताब्दीनगर में लॉजिस्टिक बिजनेस की फैक्ट्री खोलने में भी रुचि दिखाई।

वेलेंटाइन वीक के पहले दिन युवती ने ठुकराया प्रस्‍ताव तो गाल पर काटकर भागा युवक

अडानी ग्रुप के प्रतिनिधियों की टीम पहुंची थी मेरठ

दरअसल, देश के बड़े औद्योगिक ग्रुप में से एक अडानी ग्रुप के प्रतिनिधियों की एक टीम पिछले गुरुवार को मेरठ विकास प्राधिकरण (एमडीए) में पहुंची। वहां उनकी अधिकारियों के साथ एक्सप्रेसवे, मेट्रो व रैपिड रेल के प्रोजेक्टों पर चर्चा हुई। इस दौरान एमडीए वीसी साहब सिंह, चीफ टाउन प्लानर जेएन रेड्डी, टाउन प्लानर केके गौतम और असिस्टेंट टाउन प्लानर गोर्की भी मौजूद रहे। बैठक में एमडीए अधिकारियों ने टीम को महायोजना-2021 के नक्शे के तहत पूरे जिले व शहर की स्थिति से अवगत कराया। इस दौरान उन्‍हें शहर में यातायात व आबादी के साथ ही सड़क, रेल व हवाई परिवहन की भी जानकारी दी गई।

सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ हुए खाप चाैधरी, कर दिया बड़ा ऐलान- देखें वीडियो

आगरा और कानपुर में कर सकती है संचालन

वहीं, अब माना जा रहा है कि इसके बाद शहर में मेट्रो प्रोजेक्ट जल्द रफ्तार पकड़ सकता है। अडानी ग्रुप से आई टीम ने यह भी संकेत दिए कि ग्रुप राज्य में मेट्रो चलाने के लिए बड़ा निवेश करेगा। इतना ही नहीं बैठक में से यह भी संकेत मिले हैं कि ग्रुप आगरा और कानपुर मेट्रो का भी संचालन कर सकता है।

Propose Day 2018: राशि के अनुसार इस तरह करें प्‍यार का इजहार तो मिलेगी सफलता

21 व 22 फरवरी को होनी है इंवेस्‍टर्स समिट

दरअसल, अडानी ग्रुप के प्रतिनिधि लखनऊ में होने वाली इंवेस्टर्स समिट के लिए आए थे। इसमें राज्‍य सरकार ने एक लाख करोड़ रुपये के करार का लक्ष्य रखा है। यह समिट 21 व 22 फरवरी को होनी है, जिसको लेकर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ काफी गंभीर नजर आ रहे हैं। आपको बता दें कि नई मेट्रो नीति में पीपीपी मोड पर अधिक ध्‍यान देने को कहा गया है।

देखें वीडियो- राजपाल यादव ने की सीबीआई जांच की मांग

देखें वीडियो- मंडप छोड़कर पेपर देने पहुंची दुल्‍हन

क्‍या बोले अधिकारी

इस बारे में एमडीए वीसी का कहना है कि अडानी ग्रुप के प्रतिनिधियिों ने शहर में मेट्रो संचालन और लॉजिस्टिक बिजनेस में निवेश के संकेत दिए हैं। उन्‍हें सारी जानकारी दे दी गई हैं। आगे का फैसला कंपनी करेगी।

Adani Group
Show More
sharad asthana
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned