VIDEO: 10वीं पास कंपनी का बना एमडी, एमबीए पास ठगी का मास्टरमाइंड, पुलिस ने बाइक फॉर यू कंपनी का किया भंडाफोड़

Ashutosh Pathak | Publish: Jun, 25 2019 12:20:54 PM (IST) Noida, Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh, India

  • बाइक बोट के बाद बाइक फॉर यू घोटाला
  • एमबीए पास था ठगी का मास्टरमाइंड गिरफ्तार
  • हिस्ट्रीशीटर बदमाश कंपनी का एमडी, तीन आरोपी गिरफ्तार

नोएडा। बाइक बोट घोटाले के बाद अब बाइक फॉर यू ( Bike For You ) घोटाला उजागर हुआ है। बाइक टैक्सी में इन्वेस्ट कराने में नाम पर छह हजार से ज्यादा लोगों से करोड़ों रुपये ठगी करने के मामले में थाना फेज-तीन की पुलिस ने सोमवार को गढ़ी गोल चक्कर स्थित शराब ठेके के पास से तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने बाइक बोट से आइडिया लेकर बाइक फॉर यू कंपनी बनाकर ठगी की घटना को अंजाम दिया था। वहीं पुलिस को हैरानी तब हुई जब पता चला कि हिस्ट्रीशीटर बदमाश कंपनी का एमडी था। उनके पास से दो कार, एक जीप और कंपनी में संचालित आठ मोटर साइकिल बरामद हुई है।

नीली शर्ट एमबीए पास रोहित चौहान ठगी का मास्टरमाइंड और सफेद टी शर्ट 10वीं पास हिस्ट्रीशीटर बदमाश बबलू यादव एमडी और उसके साथ खड़ा जीवन, पुलिस का दावा है की आरोपियों ने बाइक बोट से आइडिया लेकर बाइक फॉर यू कंपनी बनाकर ठगी की घटना को अंजाम दिया। एसएसपी ने बताया कि तीनों आरोपियों ने ई-व्हील ट्रांजिट सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड नाम की फर्जी कंपनी बनाई। इसका ऑफिस जी-248 सेक्टर-63 में बनाया गया। कंपनी ने बाइक बोट की तर्ज पर बाइक फॉर यू स्कीम निकाली। इस योजना में निवेश के नाम पर प्रत्येक व्यक्ति से 60 हजार 250 रुपये वसूले गए थे। ये लोग आम लोगों को उकसाकर कंपनी में बाइक चलवाने के लिए लालच देकर प्रेरित किया। पकड़े गए आरोपियों ने बताया कि अब तक कंपनी ने धोखाधड़ी कर करोड़ों की ठगी की है।

ये भी पढ़ें : एक पत्‍नी और तीन पति, थाने पहुंचा मामला तो लव स्‍टोरी सुन पुलिस भी चकरा गई

एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि झांसे में आकर 6 हजार से ज्यादा लोगों ने करोड़ों रुपये निवेश किए। मगर निवेश करने के बाद किसी को पैसे नहीं मिले। इसके बाद ठग कंपनी बंद कर फरार हो गए। निवेशकों ने ठगों के खिलाफ फेज थ्री थाने में केस दर्ज कराया। पुलिस ने ठगी करने वाले तीन लोगों को गढ़ी गोल चक्कर के पास से गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी ने बताया कि आरोपियों ने जिन खातों में पैसे जमा किए, पुलिस उनकी जांच की जा रही है। रकम को कहां-कहां ठिकाने लगाया गया, इसकी भी जांच की जा रही है। पुलिस को शक है कि इन लोगों ने दूसरी कंपनियों को पैसा डायवर्ट किया है। अभी इस मामले में ठगी के सात आरोपी फरार हैं। पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही है। फरार आरोपियों ने ठगी की रकम से करोड़ों की संपत्ति खरीदी है। पुलिस इनकी संपत्ति जब्त करेगी।

वहीं एमबीए कर चुके रोहित चौहान ठगी का मास्टरमाइंड था। रोहित ने कंपनी का एमडी हिस्ट्रीशीटर बदमाश 10वीं पास बबलू यादव को बनाया था। पकड़े गए आरोपियों से जालसाजी के पैसे से खरीदी गई तीन लग्जरी कारें और बाइक फॉर यू नाम से ली गई आठ बाइकें बरामद की गई हैं। अभी इस मामले में ठगी के सात आरोपी फरार हैं। जिनकी तलाश में पुलिस जुटी है।

ये भी पढ़ें : एक के बाद एक एनकाउंटर से बदमाश पस्त, 12 घंटे में 4 एनकाउंटर, यूपी पुलिस ने एक लाख के इनामी को किया ढेर

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned