कमलेश हत्याकांड के बाद मायावती की मूर्ति तोड़ने वाले इस हिंदू नेता को मिली जान से मारने की धमकी

Highlights

  • कमलेश हत्याकांड के बाद इस हिंदू नेता को मिली धमकी
  • बुर्खा पहने महिला द्वारा घर पहुंचकर दिया गया धमकी भरा पत्र
  • शिकायत लेकर मामले की जांच में जुटी पुलिस

नोएडा। हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या के बाद (Kamlesh Tiwari Murder Case) नोएडा में रहने वाले एक Hindu Neta को अमित जानी को धमकी भरा पत्र मिला है। अमित जानी पूर्व सीएम अखिलेश यादव के खास होने के साथ ही मायावती की मूर्ति को तोड़कर सुर्खियों में आए थे। वही अमित जानी को मिले धमकी भरे पत्र में हिंदुओं, प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री योगी को लेकर ऐसी-ऐसी बातें लिखी हैं जिन्हें लिखना अशोभनीय होगा। वहीं पत्र मिलने की सूचना पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। सीसीटीवी फुटेज खंगालकर ये पता लगाया जा रहा है कि पत्र देने वाली महिला कौन है और कहां से आई है। वही जिस आॅटो से महिला पहुंची। वह दिल्ली का बताया जा रहा है।

ऑटो से आकर धमकी पत्र देने का दावा, सीसीटीवी फुटेज भी आर्इ सामने

दरअसल, उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष Amit Jani के नोएडा के सेक्टर-15ए स्थित कॉरपोरेट गेस्ट हाउस पर रविवार शाम को एक महिला ऑटो से आई और गेट पर तैनात सिक्योरिटी गार्ड को उनके नाम से बंद लिफाफा देकर चली गई। जब जानी तक ये लिफाफा पहुंचा तो उन्होंने खोलकर देखा। जिसे देखते ही उनके होश उड़ गए। उन्होंने तुरंत पुलिस को फोन कर इसकी सूचना दी। वहीं सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने सीसीटीवी चेक की। जिसमें एक महिला ऑटो से उतरकर गार्ड को लिफाफा देते हुए नजर आ रही है।

जानिए, क्या लिखा है पत्र में...

अमित जानी को मिले धमकी भरे पत्र में लिखा है 'कमलेश तिवारी के बाद अब तेरा नंबर है। अमित जानी योगी की छाती पर चढ़कर कमलेश तीवारी को मारा है, अब मोदी की छाती पर दिल्ली-एनसीआर में तुझे मारेंगे। वहीं इस पत्र में हिंदुओं के लिए आपत्तीजनक शब्द लिखे हैं, जिन्हें खबर में लिखा नहीं जा सकता। वही सीओ प्रथम स्वेताभ पांडे ने बताया कि धमकी मिलने की सूचना प्राप्त हुई थी। जिसके बाद पुलिस गेस्ट हाउस के सीसीटीवी चेक की गर्इ है। मामले की जांच जारी है।

ऐसे सुर्खियों में आया था अमित जानी

अमित जानी मूलरूप से मेरठ के जानी गांव का रहने वाला है। वह अपने गांव के नाम को टाइटल के रूप में पीछे जोड़ता है। अमित जानी की सपा सरकार में अखिलेश यादव से करीबी थी। वह मायावती की मूर्ति को तोड़कर सुर्खियों में आया था। इसके साथ ही अमित जानी ने ही उत्तर प्रदेश में एक नवनिर्माण सेना के गठन किया। जिसका वह अध्यक्ष है।

Show More
Nitin Sharma
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned