मुख्यमंत्री रहते जिस शहर में जाने से लगता था 'खौफ', अब उसी जगह पहुंच कर ये बड़ा काम करेंगे अखिलेश यादव!

मुख्यमंत्री रहते जिस शहर में जाने से लगता था 'खौफ', अब उसी जगह पहुंच कर ये बड़ा काम करेंगे अखिलेश यादव!

Nitin Sharma | Updated: 11 Oct 2019, 01:32:20 PM (IST) Noida, Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh, India

Highlights

  • उपचुनाव के बाद नोएडा पहुंचकर ये काम करेंगे पूर्व सीएम अखिलेश यादव
  • प्रदेश के मुख्यमंत्री रहते हुए एक बार भी नोएडा नहीं आए थे अखिलेश
  • अब यहां शुरू करे सकते हैं साइकिल यात्रा

नोएडा। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री (Former Chief Minister) और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव उपचुनाव के बाद नोएडा आ सकते हैं। इसकी वजह उनका यहां से (Cycle Yatra) साइकिल यात्रा निकाला जाना है। अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पार्टी संगठन को मजबूत करने के लिए यहां से साइकिल यात्रा शुरू करेंगे। जिसके बाद उनकी यह यात्रा पूरे प्रदेश (Uttar Pradesh) के सभी जिलों से होते हुए गुजरेगी। इतना ही नहीं वह इस दिन या इस से पहले पार्टी जिलाध्यक्ष समेत अन्य पार्टी पदों पर प्रभारियों के नामों की सूची भी जारी कर सकते हैं।

 

बहू की इन हरकतों से परेशान सास-ससुर ने डीएम और एसपी से की ये चौंकाने वाली मांग

CM बनने से पहले भी निकाली थी साइकिल यात्रा

दरअसल अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की पहली साइकिल यात्रा नहीं है और न ही वह पहली बार नोएडा आ रहे है। इससे पहले भी यानि (CM) सीएम बनने से पहले 2012 अखिलेश यादव नोएडा आए थे। उन्होंने 2012 में चुनाव से पहले नोएडा से ही साइकिल यात्रा शुरू कर सत्ता में वापसी की थी। मीडिया रिपोट्र्स के अनुसार एक बार फिर से अखिलेश यादव 21 अक्टूबर को नोएडा से साइकिल यात्रा शुरू कर सकते हैं। संगठन में मजबूती के लिए वह एक बार फिर से साइकिल यात्रा शुरू कर सकते हैं। यह साइकिल यात्रा संगठन को मजबूत करने के लिए निकली जाएगी।

 

फ्लाईओवर के नीचे इस हाल में मिला युवक, देखते ही महिला की निकल गई चीख- देखें वीडियो

21 अक्टूबर के बाद जारी हो सकती है जिलाध्यक्षकों की सूची

वही पार्टी से जुड़े नेताओं ने बताया कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव नवरात्र पर ही उत्तर प्रदेश के सभी जिलाध्यक्षों की सूची जारी करना चाहते थे, लेकिन अब (by Election) उपचुनाव की वजह से इसे रोक दिया गया। अब वह 21 अक्टूबर या फिर (Diwali) दिवाली के बाद जिलाध्यक्षकों समेत पार्टी में अन्य पदों पर नेताओं के नाम जारी किये जा सकते हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned