पंखुड़ी पाठक पर सपा नेता ने की अभद्र टिप्पणी, पति अनिल यादव ने पार्टी से दिया इस्तीफा

Highlights:

-पंखुड़ी पाठक की पोस्ट पर सपा नेता ने की थी अभद्र टिप्पणी

-अनिल यादव ने सपा को लेकर उठाए कई सवाल

-पुलिस ने शिकायत दर्ज कर कार्रवाई शूरू कर दी है

By: Rahul Chauhan

Published: 27 Feb 2021, 02:18 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

नोएडा। समाजवादी पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता और अखिलेश यादव के खास माने जाने वाले अनिल यादव ने पार्टी के सभी पदों और प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। इतना ही नहीं, उन्होंने ट्विटर हैंडल पर भी इस्तीफा पत्र शेयर करते हुए लिखा कि यह वह समाजवादी पार्टी नहीं है, जिसका मैं सच्चा सिपाही हूं। दरअसल, उनकी पत्नी और कांग्रेस की सोशल मीडिया इंचार्ज पंखुड़ी पाठक द्वारा शेयर की गई एक पोस्ट पर सपा नेताओं द्वारा अभद्र टिप्पणियां की गईं। इन पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा कोई एक्शन नहीं लेने का आरोप लगा अनिल यादव ने इस्तीफा दे दिया।

यह भी पढ़ें: साफ हुई पंचायत चुनाव में आरक्षण की तस्वीर, पढ़ें पूरी जानकारी

अखिलेश यादव को भेजे अपने इस्तीफा पत्र में उन्होंने लिखा कि कल एक तस्वीर वायरल हुई। इसमें अखिलेश जी पर आमजन को टीका टिप्पणी करने का मौका मिला और इस कड़ी में कांग्रेस ने भी प्रियंका जी की तस्वीर के साथ उस तस्वीर को लगाकर कटाक्ष किया। मेरी पत्नी पंखुड़ी ने भी अपनी पार्टी के कार्यकर्ता की पोस्ट को शेयर किया। लेकिन इस पर बहुत सारे समाजवादी पार्टी के लोगों ने पंखुड़ी को अभद्र व अशोभनीय टिप्पणियां लिखनी शुरू कर दीं। वैसे मैं सोशल मीडिया पर लिखी किसी भी चीज को महत्व नहीं देता, लेकिन कुछ टिप्पणी तो इतनी घटिया थीं कि कोई आम आदमी अपने घर की महिला के बारे में भी ऐसा देखे तो सह ना सके। पंखुड़ी ने इस पर पुलिस कंप्लेंट कर दी। वहीं सपा की तरफ से इन नेताओं व पार्टी के लोगों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। उल्टा मुझे ही लोगों ने पंखुड़ी को समझाने की नसीहत देनी शुरू कर दी। मुझे सपा के सभी अधिकारी व्हाट्सएप ग्रुप से निकाल दिया गया। जिसका सीधा संदेश मुझे समझ में आ गया है। इसलिए मैं सपा की प्राथमिक और आजीवन सदस्यता से इस्तीफा देता हूं।

उन्होंने आगे लिखा कि लगभग 10 वर्ष का साथ यहीं समाप्त हुआ। मुझे सपा में बेहिसाब सम्मान और प्यार मिला, जिसका मैं आभारी हूं, लेकिन यकीन मानिए पार्टी ने अपमान में भी कोई कसर नहीं छोड़ी। जिस पार्टी से हम अपने घर की महिलाओं के सम्मान की अपेक्षा नहीं कर सकते, उससे सर्व समाज के सम्मान और उत्थान की क्या ही उम्मीद रखें। यह सब मैं भारी मन से लिख रहा हूं, क्योंकि मैंने कभी सोचा नहीं था कि मैं सपा छोड़ पाऊंगा, लेकिन अंत में यही कहूंगा कि क्या समाजवादी पार्टी इतनी कमजोर है कि एक फोटो से अस्तित्व खतरे में आ जाता है और किसी महिला को इस तरह गालियां दी जाती हैं। जो भी साथी मुझसे सफर में जुड़े, उनसे मेरे रिश्ते व्यक्तिगत थे और हमेशा रहेंगे। मैं एक भाई की तरह ही आपके लिए हमेशा खड़ा रहूंगा। मेरी शुभकामनाएं समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव जी को।

यह भी देखें: सीएम के पीली टोपी के बयान पर ओमप्रकाश ने ली चुटकी

गौरतलब है कि गुरुवार को अखिलेश यादव जौनपुर में पुलिस हिरासत में मरे युवक के परिजनों ने मिलने पहुंचे थे। उनकी एक फोटो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है। जिसमें अखिलेश यादव परिवार के साथ बैठे नजर आ रहे हैं और उनके सामने बिसलेरी पानी की बोतल व बहुत सारा खाने का सामान रखा हुआ है। इस फोटो को कांग्रेस के राष्ट्रीय सोशल मीडिया समन्वयक सरल पटेल ने ट्वीट किया, जिसे पंखुड़ी पाठक द्वारा भी ट्वीट किया गया। इसके बाद समाजवादी पार्टी के एक नेता अरुण यादव ने पंखुड़ी पर आपत्तिजनक और अभद्र टिप्पणी की। इसे लेकर पंखुड़ी पाठक ने पुलिस से शिकायत की है। पुलिस ने मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned