छापेमारी: प्रतिबंधित वन्य जीवों को ऊंचे दामों पर बेचने वाला तस्कर गिरफ्तार

Highlights

- वाइल्ड लाइफ इंडिया की सूचना पर दो जगह छापेमारी

- आरोपी के पास से एक कछुआ, चार तोते और 10 मुनिया चिड़िया बरामद

- लंगूर को भी किया गया रेस्क्यू, तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

By: lokesh verma

Published: 05 Sep 2020, 12:19 PM IST

नोएडा. गौतमबुद्धनगर वन विभाग ने वाइल्ड लाइफ ऑफ इंडिया की सूचना पर नोएडा के सेक्टर-93 में छापा मारकर अवैध रूप से प्रतिबंधित वन्य जीवों को पालकर ऊंचे दामों पर बेचने वाले एक पशु तस्कर को पकड़ा है। इस मामले में वन विभाग कि तरफ से कोतवाली फेस-2 में आईपीसी की धारा और वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

यह भी पढ़ें- जल शक्ति मंत्री बलदेव सिंह औलख भी हुए कोरोना संक्रमित, जानें अब तक योगी के कितने मंत्री हुए पॉजिटिव

डिस्ट्रिक्ट फारेस्ट ऑफिसर पीके श्रीवास्तव ने बताया कि वाइल्ड लाइफ इंडिया की सूचना पर नोएडा के सेक्टर-93 में बीडीएस मार्केट में स्थित एंजल एक्वेरियम पर छापा मारकर अवैध रूप से प्रतिबंधित वन्य जीवों को पालकर ऊंचे दामों पर बेचने वाले एक पशु तस्कर प्रशांत कुमार को गिरफ्तार किया गया। छापे के दौरान वन विभाग की टीम ने एक कछुआ, 4 तोते और 10 मुनिया चिड़िया बरामद की हैं। वन विभाग के की तरफ से कोतवाली फेस-2 में आईपीसी की धारा और वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1972 की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर अभियुक्त को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

पीके श्रीवास्तव ने बताया कि वन विभाग दादरी की टीम ने रेंजर ऑफिसर किताब सिंह की अगुवाई में थाना सेक्टर-134 में मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके अलावा छापेमारी में एक ग्रे कलर के लंगूर को भी रेस्क्यू किया है। वन विभाग की ओर से दादरी में तीन लोगों के खिलाफ वन्य प्राणी लंगूर को अमानवीय रूप से बंधक बनाकर रखने से आरोप में फैसिलिटी मैनेजर मेंटेनेंस सुभाष चंद्र, मैनेजर फैसिलिटी मैनेजमेंट आरएस भडसे और सिक्योरिटी फील्ड ऑफिसर सतीश चौहान पर मुकदमा दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें- नन्हे चोर का बड़ा कारनामा, कुछ ही सेकंड में बैंक से चोरी किए 10 लाख रुपए

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned