7 सितम्बर से चल जाएगी एक्वा लाइन मेट्रो लेकिन बदल गए नियम, जानिए अब क्या होंगी गाइडलाइन

  • अब यात्रा के दौरान कई प्रक्रियाओं से गुजरना होगा यात्रियों को
  • जानिए क्या हैं नए नियम और किन बातों का रखना होगा ध्यान

By: shivmani tyagi

Updated: 30 Aug 2020, 10:28 PM IST

नोएडा। नोएडा मेट्रो रेल कार्पोरेशन ( एनएमआरसी ) ने केंद्र सरकार की गाइड लाइन के आधार पर 7 सितंबर से एक्वा लाइन मेट्रो का संचालन शुरू करने का निर्णय किया है। एनएमआरसी की एमडी रितु माहेश्वरी ने ये जानकारी देते हुए कहा है कि, एक्वा लाइन मेट्रो का संचालन शुरू होने से ग्रेटर नोएडा से नोएडा और दिल्ली आने-जाने वाले लोगो को बड़ी राहत मिलेगी।

यह भी पढ़ें: योगी राज में ढहाया जाएगा आजम का आलीशान रिसोर्ट, सपा काल में हुआ था निर्माण, देखें Video

एनएमआरसी प्रबंधन की ओर से एनएमआरसी की एमडी रितु माहेश्वरी ने कहा कि केंद्र सरकार की गाइड लाइन के आधार पर एक्वा लाइन मेट्रो संचालन 7 सितंबर से किया जाएगा। इसके लिए पूरी तैयारियां कर ली गई हैं। संचालन शुरू होने पर किसी तरह की कोई दिक्कत ना हो इसके लिए 5 महीने से रोजाना नोएडा-ग्रेटर नोएडा रूट पर एक्वा लाइन पर ट्रायल रन जारी है।

यह भी पढ़ें: गाजियाबाद : नशे में धुत कार सवार युवकों ने सीए को रौंदा, दर्दनाक माैत

रितु माहेश्वरी बताया की केंद्र सरकार की गाइड लाइन के अनुसार मेट्रो में सफर करने के लिए यात्रियों को कई प्रक्रियाओं से गुजरना होगा, इसमे सबसे पहले मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना जरूरी होगा। प्रत्येक स्टेशन पर थर्मल स्कैनिंग का इंतजाम होगा। सफर करने के दौरान अगर किसी को सर्दी, जुकाम, बुखार या कोई अन्य लक्षण नहीं होने चाहिए। ऐसा होने पर यात्रा से रोक दिया जाएगा। प्रत्येक यात्री को मास्क लगाना अनिवार्य होगा। इसका उल्लंघन करने पर जुर्माना तक देना पड़ सकता है।

यह भी पढ़ें: चाचा रशीद मसूद के बाद कांग्रेस नेता इमरान मसूद भी कोरोना की चपेट में आए, परिवार के साथ किए गए हाेम आइसोलेट

मेट्रो में बैठने की व्यवस्था के हिसाब से 50 फीसद यात्री ही सफर कर सकेंगे। यानी मेट्रो की एक बोगी में जितनी क्षमता यात्रियों की है उससे आधे यात्री ही सफर कर सकेंगे। सफर करते समय सोशल डिस्टेन्स का ध्यान रखना होगा इसके लिए प्रत्येक कोच में यात्रियों को एक-एक सीट छोड़कर बैठना होगा। हर स्टेशन पर मार्किंग की गई है। हर स्टेशन पर सवारियों की जांच के लिए स्पेशल स्क्रीनिंग टीम लगाई गई है। जो यात्री के तापमान से लेकर जरूरी जांच करेगी। हर स्टेशन पर कोविड पाये जाने वाले यात्रियों को बैठाने के लिए अलग से जगह बनाई गई है, जहां पेसेंट को बैठाया जाएगा और जो कोविड अस्पताल है उनसे संपर्क करके उसे एंबुलेंस से वहाँ भेजा जाएगा।

यह भी पढ़ें: योगी राज में ढहाया जाएगा आजम का आलीशान रिसोर्ट, सपा काल में हुआ था निर्माण, देखें Video

एक्वा लाइन मेट्रो में सफर के दौरान उन यात्रियों को भी दिक्कत नहीं होगी, जिनके पास स्मार्ट फोन नहीं है। ऐसे यात्रियों को मेट्रो स्टेशन में प्रवेश करने से पहले 1921 नंबर पर फोन करना होगा। फोन करने के बाद दूसरी तरफ से जरूरी सवाल पूछे जाएंगे। इसके बाद संबंधित यात्री के फोन पर अनुमति का मैसेज आ जाएगा। जिसको दिखा कर वह यात्रा कर सकेगा।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned