बसपा में हुआ बड़ा खेल, मायावती के इस करीबी नेता ने कर दिया यह कांड

मायावती के करीबी ने किया ऐसा कांड कि मच गई खलबली।

By: Kaushlendra Pathak

Published: 13 Mar 2018, 04:13 PM IST

नोएडा। आमतौर पर नेताओं द्वारा सियासी बयानबाजी तो चलते रहते हैं। लेकिन, बसपा के नेता ने ऐसा खेल कर दिया कि हहाकार मच गया है। दरअसल, मायावती के करीबी माने जाने वाले बसपा नेता हाजी इकबाल पर काफी गंभीर आरोप लगे हैं। सहारनपुर में हाजी इकबाल के खिलाफ फर्जी हस्ताक्षर और डाक्यूमेंट लगाकर पंजाब नेशनल बैंक में फर्जी खाता खुलावाने के आरोप में जनकपुरी थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

बसपा नेता पर गंभीर आरोप

प्रधान ने इनके खिलाफ आरोप लगाया है कि उनके फर्जी हस्ताक्षर और डाक्यूमेंट लगाकर पंजाब नेशनल बैंक में फर्जी खाता खोला गया। जिससे पूर्व एमएलसी की तीन कंपनियों में लाखों रुपये ट्रांसफर किए गए हैं। इस मामले में पुलिस ने पूर्व बीएसपी एमएलसी हाजी इकबाल, वैभव मुकुंद, सौरभ मुकुंद, रविंद्र, विनोद कुमार के साथ पंजाब नेशनल बैंक की एसएसआई शाखा के कर्मचारियों व अधिकारियों को भी आरोपी बनाया है।

 

big blame on bsp leader

फर्जी हस्ताक्षर कर पैसे ट्रांसफर करने का आरोप

मीरपुर गंदेवड़ के प्रधान विश्वास कुमार ने पुलिस को तहरीर देते हुए बताया कि उसने वैभव मुकुंद के साथ पार्टनरशिप में दो फर्म यमुना एग्रो सॉल्यूशन और यमुना एग्रो टेक फार्म साउथ सिटी दिल्ली रोड बनाई थी। इसमें वैभव ने एक फर्म यमुना एग्रोटेक को रजिस्ट्रार कार्यालय में रजिस्टर्ड कराया था। इस फर्म ने 2013 में 5.3 हेक्टेयर कृषि जमीन खरीदी थी जो आज भी फर्म के ही नाम पर है। इसके बाद इस फर्म ने कोई कार्य नहीं किया, जबकि दूसरी फर्म को रजिस्टर्ड ही नहीं कराया गया था। उनका आरोप है कि अपंजीकृत यमुना एग्रो सॉल्युशन में उन्हें पार्टनर बनाकर वैभव मुकुंद के स्थान पर सौरभ मुकुंद और विनोद कुमार पार्टनर दिखाकर पंजाब नेशनल बैंक की एसएसआई ब्रांच में 13 मई 2015 को खाता खुलवाया गया। इसमें न तो उन्होंने साइन किए और न ही कोई सहमति दी। जब उन्हें सच्चाई का पता चला तो उनके होश उड़ गए।

बसपा नेता ने आरोप को बताय बेबुनियाद

वहीं, इस पूरे मामले में पूर्व एमएलसी व बसपा नेता हाजी इकबाल ने इस आरोप को सिरे से खारिज किया है। उनका कहना है कि शिकायतकर्ता उनके पुराने पार्टनर रहे हैं। जो अलग होने पर अब राजनीतिक साजिश के तहत उल्टे सीधे आरोप लगा रहे हैं। उनका कहना है इस आरोप में कोई सच्चाई नहीं है। फिलहाल, पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है। इधर, पुलिस का कहना है कि सारे तथ्यों की छानबीन की जा रही है, जल्द ही सच्चाई सबके सामने आ जाएगी।

Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned