भाजपा सांसद ने मुस्लिमों पर की थी आपत्तिजनक टिप्पणी, पार्टी ने किया किनारा

भाजपा सांसद ने मुस्लिमों पर की थी आपत्तिजनक टिप्पणी, पार्टी ने किया किनारा
BJP MP pravesh verma

भाजपा सांसद ने जनसभा में ऐसी टिप्पणी की जिससे पार्टी को ​नुकसान हो सकता है

नई दिल्ली/नोएडा। पश्चिमी दिल्ली के बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा के विवादित बयान से पार्टी ने किनारा किया है। पार्टी का कहना है कि वे सबका साथ और सबके विकास की बात करने वाली सोच के साथ काम कर रहे हैं, ऐसे में किसी वर्ग विशेष की बात उनके राजनीतिक खांचे में किसी भी तरह फिट नहीं बैठती।

पार्टी कहती है, 'सबका साथ, सबका विकास'

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिनेश शर्मा ने पत्रिका को एक टेलीफोनिक बातचीत में बताया कि उनकी पार्टी की अधिकृत नीति वही होती है जो पार्टी के सर्वोच्च नेता कहते हैं। उन्होंने कहा कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह यह कहते हैं कि वे 'सबका साथ, सबका विकास' के एजेंडे पर काम करते हैं तब पार्टी की सोच, नीति और नियत पर किसी को शक नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री हमेशा अल्पसंख्यक बच्चों के एक हाथ में कंप्यूटर और दूसरे हाथ में कुरान होने की बात करते हैं। इसके आलावा अल्पसंख्यक वर्ग के लिए केंद्र सरकार की योजनाओं को देखकर भी यह अंदाज लग जाना चाहिए कि सरकार अल्पसंख्यकों को किस निगाह से देखती है और उनसे कैसे रिश्ते रखना चाहती है।

भाजपा से जुड़ रहे अल्पसंख्यक

हालांकि उन्होंने बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा के किसी बयान की जानकारी न होने के आधार पर कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। यूपी के शीर्ष भाजपा नेता ने कहा कि केंद्र सरकार की अल्पसंख्यकों के प्रति इसी नीति का परिणाम है कि आज भारी संख्या में अल्पसंख्यक उनके साथ जुड़ रहे हैं। पीएम के लोकसभा क्षेत्र में जिस तरह से अल्पसंख्यक कामगारों के बहुलता वाले बुनकर वर्ग के लिए योजनाएं शुरु की गयी हैं और जिस तरह अल्पसंख्यक महिलाओं के लिए उज्ज्वला योजना के तहत उन्हें गैस सिलिंडर दिए गए हैं, उससे वाराणसी से लेकर गुजरात तक में उनके प्रति इस वर्ग की सोच में भारी परिवर्तन आया है। उन्होंने कहा कि यही कारण है कि अल्पसंख्यक वर्ग भारी संख्या में उनके साथ जुड़ा है।

ओबीसी वर्ग पर की थी टिप्पणी

बता दें कि पश्चिमी दिल्ली के भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा ने कथित रूप से पश्चिम उत्तर प्रदेश के बागपत में एक रैली में अल्पसंख्यक वर्ग के प्रति आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी थी। कथित तौर पर उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक वर्ग कभी भी बीजेपी का वोट बैंक नहीं रहे, इस कारण से उन्हें इस वर्ग के वोटों की कभी चिंता नहीं रहती। हालांकि विवाद बढ़ने के बाद प्रवेश वर्मा ने ऐसी किसी टिप्पणी से साफ इनकार किया। उन्होंने कहा कि उनकी बात को गलत ढंग से प्रस्तुत किया गया जिसकी वजह से लोगों में भ्रम पैदा हुआ। उन्होंने ऐसी किसी टिप्पणी से इनकार किया।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned