अब मंदिर बनाकर ही जनता के सामने जाएंगे: साक्षी महाराज

अब मंदिर बनाकर ही जनता के सामने जाएंगे: साक्षी महाराज
sakshi maharaj

sandeep tomar | Publish: Dec, 06 2016 09:29:00 PM (IST) Noida, Uttar Pradesh, India

भाजपा सांसद साक्षी महाराज का कहना है कि भाजपा ने जो वादा किया है उसे पूरा करेगी

नई दिल्ली/नोएडा. बाबरी ध्वंश के दिन 6 दिसम्बर पर भाजपा नेता साक्षी महाराज ने कहा कि भाजपा राम मंदिर निर्माण के लिए कृत संकल्प है और वह अपना वायदा निभाकर ही अगले आम चुनाव में जनता के सामने जायेगी. राम मंदिर निर्माण का रास्ता क्या होगा, यह पूछे जाने पर भाजपा नेता ने कहा कि मामला सर्वोच्च अदालत में है और वे उसके फैसले के इंतज़ार में हैं, लेकिन उनका व्यक्तिगत मानना है कि देश की सर्वोच्च पंचायत संसद से ही इस मसले का आखिरी हल निकलेगा.

बाबर से जोड़ना साजिश

विवादित ढांचे को बाबर से जोड़े जाने पर गहरी आपत्ति जताते हुए भाजपा नेता ने कहा कि कुछ लोगों ने अज्ञानतावश या साजिशन राम जन्म भूमि को बाबर से जोड़कर नाम दे दिया, जबकि पूरी दुनिया उसे राम के जन्म से जोड़कर देखती है. उन्होंने कहा कि आज हिंदुस्तान में कोई भी ऐसा नागरिक नहीं होगा जो खुद को बाबर जैसे एक आक्रांता से जोड़कर देखे जाने पर ख़ुशी महसूस करता हो, इसलिए मीडिया को उक्त स्थल को बाबर से जोड़कर देखने और कहने से बचना चाहिए.

बदल रही मुस्लिमों की सोच

उन्नाव से भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने कहा कि अच्छी बात यह है कि इसी देश के अनेक मुस्लिम इस मसले पर अब दूसरी तरह सोच रहे हैं. छह लाख से अधिक मुस्लिमों ने हस्ताक्षर करके अयोध्या में राम मंदिर बनाने का समर्थन किया है. उन्हें यह पता चल गया है कि बाबरी मस्जिद के नाम पर अनेक राजनीतिक दलों ने अब तक उन्हें सिर्फ धोखा देने का ही काम किया है.

हिन्दू सन्त पूरा करेंगे अपना काम

उन्होंने कहा कि बाबरी ढांचा तोड़े जाने के बाद से ही वहां पर पत्थर निर्माण का काम लगातार चल रहा है, अब उसके उपयोग का समय आ गया है. हिन्दू सन्त समाज इसे अपनी जिम्मेदारी समझता है और वह इस कार्य को सम्पन्न करके ही छोड़ेंगे.

कुरआन नहीं देता इजाजत

भाजपा सांसद ने कहा कि मुस्लिमों के पवित्र धर्मग्रंथ कुरआन में भी यह बात कही गयी है कि किसी एक धर्म के पूजा स्थल को गिराकर वहां मस्जिद बनाई गयी हो, तो ऐसे इबादत स्थल से पढ़ी गयी नमाज को खुदा कबूल नहीं करता. अब ऐसे में कोई मुस्लिम उस स्थल पर मस्जिद बनाने की वकालत कैसे कर सकता है.
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned