सोशल मीडिया पर एक दूसरे को कड़ी टक्कर दे रहे सीएम योगी और अखिलेश यादव, जानिए कैसे

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के 1.41 करोड़ हो गए हैं। अखिलेश यादव के फॉलोअर्स की संख्या भी एक 1.41 करोड़ ही है।

By: Rahul Chauhan

Published: 12 Jun 2021, 04:09 PM IST

नोएडा। उत्तर प्रदेश में 2022 में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर हर राजनीतिक पार्टी ने अपनी कमर कस ली है। जहां सूबे की योगी सरकार फिर से बहुमत में आने का दावा कर रही है तो वहीं विपक्षी पार्टियां भी एकजुट होकर भाजपा को हराने की तैयारी में जुटे हैं। इस बीच सोशल मीडिया (social media) पर भी सीएम योगी आदित्यनाथ (cm yogi adityanath) और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (akhilesh yadav) में कड़ी टक्कर चल रही है। दरअसल, ट्विटर (twitter) पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के फॉलोअर्स बराबर हो गए हैं। जहां आदित्यनाथ के 1.41 करोड़ हो गए हैं तो वहीं अखिलेश यादव के फॉलोअर्स की संख्या भी एक 1.41 करोड़ ही है।

यह भी पढ़ें: पूर्वांचल राज्य का शिगूफा छोड़कर योगी, अनुप्रिया और निषाद को मनाया

बता दें कि मौजूदा दौर में सोशल मीडिया का ट्रेंड लोगों के बीच काफी बढ़ गया है। हर वर्ग के लोग सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हैं और इसने काफी हद तक लोगों के जीवन को आसान भी बनाया है। एक समय था जब लोगों को अपने काम कराने के लिए काफी समय लग जाता था, लेकिन वहीं अब सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों के बीच अपनी बात पहुंचाना बेहद आसान हो गया है। यही वजह है कि राजनीति भी अब सोशल मीडिया से जुड़ गई है। हर राजनेता हो या अफसर इस समय हर कोई सोशल मीडिया से जुड़ा हुआ है।

सोशल मीडिया की ताकत का एहसास इस बात से लगाया जा सकता है कि पिछले विधानसभा चुनाव के समय भारतीय जनता पार्टी ने सोशल मीडिया पर मौजूदगी के आधार पर ही उम्मीदवारों को टिकट दी थी। पार्टी ने इस बात पर जोर दिया था कि उनके उम्मीदवार ट्विटर और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर सक्रिय होने चाहिए।

यह भी पढ़ें: इलेक्शन मोड में आई बसपा, मिशन यूपी 2022 के लिये मायावती ने किया संगठन में बड़ा फेरबदल

गौरतलब है कि अखिलेश यादव ट्विटर पर महज 23 लोगों को फॉलो करते हैं, वहीं योगी आदित्यनाथ ट्विटर पर 46 लोगों को फॉलो करते हैं। वहीं बात करें अखिलेश और योगी आदित्यनाथ के सोशल मीडिया पर सक्रिय होने की तो जहां अखिलेश यादव साल 2009 से सोशल मीडिया पर एक्टिव हैं वहीं योगी आदित्यनाथ साल 2015 में ट्विटर पर आए थे, लेकिन उनके द्वारा किए गए ट्वीट्स की संख्या अखिलेश की ट्वीट्स से कही ज्यादा है। कुल मिलाकर ट्विटर पर सक्रियता के मामले में योगी आदित्यनाथ अखिलेश यादव से कहीं ज्यादा बेहतर हैं।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned