कोरोना पर वार: दिल्ली से सटे नोएडा और गाजियाबाद समेत इन 6 जिलों में सीएम योगी ने शुरू किया महाअभियान

Highlights

- दिल्ली एनसीआर में आने वाले यूपी के छह जिलों में तेजी से कोविड-19 की जांच के निर्देश

- गौतम बुद्ध नगर, गाजियाबाद, मेरठ, बुलंदशहर, हापुड़ और बागपत में घर-घर जांच कर रही स्वास्थ्य विभाग की टीमें

- अनलॉक-2 में गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद के लिए बनाए गए अलग से नियम

By: lokesh verma

Published: 02 Jul 2020, 12:23 PM IST

नोएडा. कोरोना वायरस ( coronavirus ) के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ( CM Yogi Adityanath ) ने दिल्ली एनसीआर ( Delhi NCR ) से जुड़े उत्तर प्रदेश के 6 जिलों गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, मेरठ, बुलंदशहर, हापुड़ और बागपत में जांच के लिए महाअभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। इस महाअभियान के तहत सभी छह जिलों में स्वास्थ्य विभाग की टीमें घर-घर पहुंचकर कोविड-19 ( COVID-19 ) की जांच कर रही हैं। बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उक्त निर्देश टीम-11 की बैठक के दौरान दिए हैं। इसके साथ ही अनलॉक-2 ( Unlock-2 ) को लेकर भी सरकार ने गाइडलाइन जारी कर दी है। इस गाइडलाइन के तहत गौतमबुद्ध नगर ( Gautambudh Nagar ) और गाजियाबाद ( Ghaziabad ) के लिए अलग से नियम बनाए गए हैं। अनलॉक-2 में भी आवागमन के लिए जिलाधिकारियों को प्रतिबंध लगाने की छूट दी गई है। इस तरह नई गाइडलाइन में भी दिल्ली-यूपी बॉर्डर को लेकर स्थिति साफ नहीं की गई है।

यह भी पढ़ें- NOIDA: गौतमबुद्ध नगर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मरीज, सीएम योगी ने लिखित में मांगा जवाब

दिल्ली से सटे वेस्ट यूपी के छह जिलों में महाअभियान शुरू कर दिया गया है। इसके तहत स्वास्थ्य विभाग की टीमें इंफ्रारेड थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर और सैनिटाइजर के साथ हर घर पहुंचकर मेडिकल स्क्रीनिंग कर रही है। जांच के बाद कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर लोगों को कोविड अस्पतालों में किया जाएगा। गौर करने वाली बात यह है कि मौजूदा समय में 26 हजार टेस्ट प्रतिदिन किए जा रहे हैं। फिलहाल प्रदेश में रोजाना कोरोना टेस्ट की क्षमता 26,489 है। जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रतिदिन 30 हजार टेस्ट करने के निर्देश दिए हैं।

यूपी में स्वास्थ्य विभाग की 1 लाख टीमें लगी

बता दें कि योगी सरकार ने तेजी से मेडिकल स्क्रीनिंग को लेकर एक लाख मेडिकल टीम महाअभियान में लगाई हैं। इनके अलावा निगरानी के लिए भी अलग से सर्विलांस टीम तैनात हैं। बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश सभी जरूरी सुविधाओं वाले एक लाख 51 हजार कोविड-19 बेड तैयार करने वाला पहला राज्य बन गया है।

अनलाॅक-2 में नोएडा व गाजियाबाद के लिए अलग नियम

वहीं, प्रदेश सरकार की तरफ से मुख्य सचिव ने अनलॉक-2 को लेकर नई गाइडलाइन जारी कर दी है। नई गाइडलाइन में रात्रि कर्फ्यू को लेकर कहा गया है कि मेरठ मंडल को छोड़कर प्रदेश में सभी जिलों में रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू लगाया जाएगा। वहीं मेरठ मंडल के सभी जिलों में 10 जुलाई तक रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू रहेगा। रात्रि कर्फ्यू के दौरान औद्योगिक इकाइयों में मल्टीपल शिफ्ट में काम करने वालों के अलावा बस, ट्रेन और हवाई जहाज से यात्रा करने वाले यात्रियों को छूट मिलेगी। इसके अलावा सभी राज्यों की सीमाओं से भी प्रतिबंध हटा लिया गया है।

हालांकि एनसीआर के जिले गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद के जिलाधिकारी, पुलिस प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के जनपदीय अधिकारियों से विचार-विमर्श कर अलग से स्थानीय स्तर पर प्रतिबंध लगा सकते हैं, जिससे स्पष्ट है कि दिल्ली बॉर्डर पर अभी राहत मिलने की कोई उम्मीद नहीं है, क्योकि स्थानीय स्तर पर अधिकारियों का मानना है कि दिल्ली की वजह से जिले में कोरोना का संक्रमण बढ़ा है और यदि वह बॉर्डर पर छूट देते हैं तो स्थिति और बिगड़ सकती है।

यह भी पढ़ें- Bijnor: 13 नए केस के साथ कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या हुई 300, कंटेनमेंट जोन की संख्या भी बढ़ी

coronavirus COVID-19
Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned