Lockdown के बीच सड़क पर घूमने निकले पुलिस कमिश्नर और डीएम, लोग बोले- 'हमें अपने घर जाना है'

Highlights:

-लोगों को अवश्यक जानकारी देने के लिए पुलिस कमिश्नर व डीएम ने नोएडा का दौरा किया

-दोनों अधिकारियों ने लोगों से हाल-चाल के साथ आवश्यक सामान की आपूर्ति के बारे में पूछा

-सोशल डिस्टेंस का उल्लंघन करने वालों को सचेत किया

नोएडा। नोवेल कोरोना वायरस के सम्बन्ध मे हुये लॉकडाउन में जनमानस की समस्याओं की जानकारी लेने और लोगों को लॉकडाउन का पालन कराने के लिए अवश्यक जानकारी देने के लिए पुलिस कमिश्नर व डीएम ने नोएडा का दौरा किया। इस दौरान दोनों अधिकारियों ने लोगों से हाल-चाल के साथ आवश्यक सामान की आपूर्ति के बारे में पूछा। साथ ही सोशल डिस्टेंस का उल्लंघन करने वालों को सचेत किया और लोगों को आ रही परेशानियों का निराकरण करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

यह भी पढ़ें : Noida Police ने अनीस को पहुंचाया उसकी गर्भवती पत्नी के पास, तमन्ना ने बेटे का नाम रखा रणविजय

नोएडा के सेक्टर 62 व सेक्टर 8 के मजदूरों की कालोनी का दौरा करते पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार और डीएम बीएन सिंह ने लोगों को नोवेल कोरोना वायरस के सम्बन्ध में हुये लॉकडाउन के बारे में जानकरी दी। इसके साथ ही उन्होंने सेक्टर 8 स्थित मस्जिद के इमाम को बुलाकर जुमे की नमाज के लिए मस्जिद में लोगों द्वारा एकत्रित होकर नमाज अदा न कर घरों पर ही नमाज अदा करने की बात कही।

इस दौरान लोगों ने अपनी समस्या इन अधिकारिर्यों के सामने रखी और बताया कि किराये पर रहने वाले लोगों को मकान मालिकों द्वारा घर खाली करने के लिए कहा जा रहा है तथा कुछ दुकानदारों द्वारा सामान को अत्यधिक मूल्य पर बेचा जा रहा है। जिस पर पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार ने सम्बन्धित थाना प्रभारी व चौकी प्रभारी को निर्देश दिया कि इस प्रकार के मकान मालिकों को हिदायत दी जाये कि लॉकडाउन की स्थिति में इस तरह किरायेदारों को घर से न निकाला जाये तथा टीम गठित कर इस प्रकार के दुकानदारों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाये।

यह भी पढ़ें: Lockdown के बीच दो पक्षों में पथराव, महिलाओं समेत आधा दर्जन घायल

दोनों अधिकारियों ने एक्सप्रेस वे, डीएनडी एव अन्य स्थानों पर पैदल जा रहे मजदूर वर्ग के लोगों से बातचीत की। बातचीत के दौरान लोगों द्वारा बताया गया कि काम न होने की स्थिति के कारण वे लोग अपने अपने घरों की ओर जा रहे हैं। जिसमें कुछ लोग हरियाणा, दिल्ली एवं राजस्थान के निवासी हैं। सभी लोगों की परिस्थिति देखते हुये पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार और डीएम बीएन सिंह ने लोगों को उनके घर और गाँव पहुंचाने हेतु रोडवेज बसों की निशुल्क व्यवस्था की। ये बसें परीचौक, ग्रेटर नोएडा से एकत्रित की गयी। जिससे सभी राहगीर अपने अपने गन्तव्य स्थानों पर सुरक्षित पहुंच सके। साथ ही इनके भोजन की व्यवस्था करवाने के निर्देश भी दिये गये।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned