सीलिंग को लेकर फिर गहराया विवाद, कार्रवाई के खिलाफ व्यापारियों ने दिया धरना

मेरठ में व्यापारियों के विरोध के बाद बैकफुट पर प्रशासन, जांच तक के लिए सीलिंग की कार्रवाई को टाला

By:

Published: 10 Feb 2018, 02:04 PM IST

नोएडा। मेरठ छावनी क्षेत्र स्थित बंगला नंबर 210 बी को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। बता दे कि यहां बनी पांच दुकानों की सीलिंग को लेकर प्रशासन की ओर से कार्रवाई की गई। जिसके बाद कार्रवाई को लेकर बड़ा हंगामा खड़ा हो गया। बता दें कि इस दौरान प्रशासन और कैंटोनमेंट बोर्ड की इस कार्रवाई के विरोध में व्यापारी सड़कों पर उतर आये और जमकर हंगामा किया। हालांकि व्यापारियों के इस हंगामे के बाद प्रशासन ने मामले की जांच करने की बात कही और सीलिंग की कार्रवाई को फिलहाल के लिए टाल दिया गया ।


ये भी पढ़े- इतने रुपये लेकर बसों की एंट्री करा रहा रोडवेज का ये रिश्वतखोर अधिकारी- देखें वीडियो


क्या है मामला ?
दरअसल मामला मेरठ के छावनी क्षेत्र स्थित बंगला नंबर 210 बी का है। जहां हुए निर्माणों को लेकर काफी समय से विवाद चल रहा है। लगभग दो साल पहले भी इसी तरह कैंटोनमेंट बोर्ड के की ओर से एक कॉम्प्लेक्स के ध्वस्तीकरण की कार्रवाई के दौरान चार लोगों की मौत हो गयी थी । जिसके बाद खासा बवाल भी हुआ। लेकिन अब कैंटोनमेंट बोर्ड के ने एक बार फिर यहां बनी पांच दुकानों पर सीलिंग की कार्यवाही करने की कोशिश की। लेकिन व्यापारी इसके विरोध में आ गए। यही नहीं बकायदा व्यापारी पेट्रोल की बोतलें भरकर मौके पर ही बैठ गए। इस दौरान व्यापारियों ने आरोप लगाया कि इस कार्रवाई की ख़बर सुनकर एक महिला की सदमे के चलते अचानक मौत हो गई।

ये भी पढ़े- 36 साल से रह रहे थे लोग, अब एक आदेश के बाद तोड़ दिए गए घर

विरोध के बाद बैकफुट पर प्रसाशन
वहीं व्यापारियों के विरोध को देख प्रशासन भी बैक फुट पर आ गया। व्यापारी जहां उनके पास कोर्ट का स्टे होने की बात कर रहे थे। तो वहीं कैंटोनमेंट बोर्ड के अधिकारी मुकेश सिंह भी मौके पर इसका जवाब नहीं दे सके। जिसके चलते फिलहाल प्रशासन ने सीलिंग की कार्रवाई को तब तक टाल दिया जब तक की उनकी ओर से दोनों पक्षों के द्वारा पेश किये गए दस्तावेजों की जांच नहीं हो जाती।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned